प्रथम पेज कृष्ण भजन जब जब भी तू हारे तो आना खाटू धाम भजन लिरिक्स

जब जब भी तू हारे तो आना खाटू धाम भजन लिरिक्स

जब जब भी तू हारे,
तो आना खाटू धाम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम।।

तर्ज – सावन का महीना।



करके भरोसा जो तू,

खाटू में आए,
लुटाकर ये करुणा अपनी,
पार लगाए,
इसकी दया से तेरे,
बन जाएंगे सब काम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम।।



बरसे है ऐसी यहां,

अमृत की धारा,
चख ले जो एक बारी,
वो आये दोबारा,
पी लेना रस तू भी,
मिट जाऐं कष्ट तमाम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम।।



रोते सिसकते को,

बाबा हंसाता,
मिटाकर के सारे दुख,
गले से लगाता,
इस पावन तीर्थ के दर्शन,
करले जो एक बार,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम।।



जब जब भी तू हारे,

तो आना खाटू धाम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम,
बाबा तुझे संभालेगा,
बोलो जय श्री श्याम।।

लेखक / गायक – मुकेश कुमार।
9660159589


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।