प्रथम पेज राजस्थानी भजन गुरु देव जगावे सुतोड़ा जागो रामजी रा भजना तू कई भागो

गुरु देव जगावे सुतोड़ा जागो रामजी रा भजना तू कई भागो

गुरु देव जगावे सुतोड़ा जागो,

श्लोक:- कबीर कमाई आपकी,
कबहि नही निसफल जाए,
सात समुन्द्र आड़ा पड़े,
तो मिले अगाडी आये।

गुरु देव जगावे सुतोड़ा जागो,
रामजी रा भजना तू कई भागो,
कई भागों रे वीरा कई भागो।।



कई काम करवा थाने भेजियो रामजी,

कई काम करवा लागो,
रामजी रा भजना ती कई भागों,
गुरु देव जगावें सुतोड़ा जागो,
रामजी रा भजना तू कई भागो,
कई भागों रे वीरा कई भागो।।



रामजी बनायो थाने मिनक फूटरो,

कर्मोती बनजे मत कागो,
रामजी रा भजना ती कई भागों,
गुरु देव जगावें सुतोड़ा जागो,
रामजी रा भजना तू कई भागो
कई भागों रे वीरा कई भागो।।



भगवा लगावे मती चन्दन लगावे,

कंचन कर काया रो वागो,
रामजी रा भजना ती कई भागों,
गुरु देव जगावें सुतोड़ा जागो,
रामजी रा भजना तू कई भागो
कई भागों रे वीरा कई भागो।।



खेल में जावे ओ तमासा में जावे,

कुमार्ग मनड़ो परो लागो,
रामजी रा भजना ती कई भागों,
गुरु देव जगावें सुतोड़ा जागो,
रामजी रा भजना तू कई भागो
कई भागों रे वीरा कई भागो।।



माली पूनम संग जो कोई जागे,

रामजी लेवे अमोलआगो,
रामजी रा भजनाती कई भागों,
गुरु देव जगावें सुतोड़ा जागो,
रामजी रा भजना तू कई भागो
कई भागों रे वीरा कई भागो।।



गुरु देव जगावे सुतोड़ा जागो,

रामजी रा भजना तू कई भागो
कई भागों रे वीरा कई भागो।।

Singer : Prakash Mali,
Mahendra Singh Rathod

“भजन श्रवण सिंह राजपुरोहित द्वारा प्रेषित”
सम्पर्क : +91 9096558244


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।