देखो आ गए है घर घर में पार्वती के लल्ला लिरिक्स

गणपति आज पधारे घर में,
मच गओ है ये हल्ला,
देखो आ गए है घर घर में,
पार्वती के लल्ला,
शिव गौरा की आंख के तारे,
दिखे हैं बड़े मुटल्ला,
देखो आ गए हैं घर घर में,
पार्वती के लल्ला।।



अरे प्रथम पूज्य गजानन तुम हो,

देवों के सरदार,
तेरी कृपा हर दुःख मिट जावे,
ओ मेरे सरकार,
अरे तेरे आने से हो जावे,
गली गली ने हल्ला,
देखो आ गए हैं घर घर में,
पार्वती के लल्ला।।



अरे लंबोदर गजबदन कहाते,

तेरी एक दंत पहचान,
तुझसा कोई जग में न दूजा,
है एसो तेरो नाम,
अरे रिद्धि सिद्धि के दाता तुम हो,
मां गौरा के लल्ला,
देखो आ गए हैं घर घर में,
पार्वती के लल्ला।।



शाम सवेरे चारों पहर मैं,

तेरा नाम पुकारूँ,
पान सुपारी और लड्डू के,
मैं तोहे भोग लगाऊं,
मूषक वाहन पे लम्बोदर,
घूमें गली मोहल्ला,
देखो आ गए हैं घर घर में,
पार्वती के लल्ला।।



सुख कर्ता दुख हर्ता तुम हो,

ओ मेरे गणराज,
तेरे दर पे जो आ जावे,
सफल करो सब काज,
विघ्नविनाशक विघ्नहरैय्या,
शिव गौरा के लल्ला,
देखो आ गए हैं घर घर में,
पार्वती के लल्ला।।



गणपति आज पधारे घर में,

मच गओ है ये हल्ला,
देखो आ गए है घर घर में,
पार्वती के लल्ला,
शिव गौरा की आंख के तारे,
दिखे हैं बड़े मुटल्ला,
देखो आ गए हैं घर घर में,
पार्वती के लल्ला।।

– गायक / गीतकार / कम्पोजीशन –
उदय लकी सोनी।
मोबाइल – 9131843199


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

हे दुख भंजन गिरिजानंदन करते तीनों लोक हैं वन्दन

हे दुख भंजन गिरिजानंदन करते तीनों लोक हैं वन्दन

हे दुख भंजन गिरिजानंदन, करते तीनों लोक हैं वन्दन, पूजा न आपकी जब तक होवे, शुभ कोई काम न तब तक होवे।। रिद्धि सिद्धि के तुम हो दाता, सबके हो…

सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची श्री गणेश आरती लिरिक्स

सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची श्री गणेश आरती लिरिक्स

सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची, नुरवी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची, सर्वांगी सुंदर उटी शेंदुराची, कंठी झळके माळ मुक्ताफळाची, जय देव जय देव जय मंगलमूर्ती, दर्शनमात्रे मन कामना पुरती, जय देव जय…

जय हो तेरी गणराज गजानन भजन लिरिक्स

जय हो तेरी गणराज गजानन भजन लिरिक्स

जय हो तेरी गणराज गजानन, दोहा – प्रथमें गौरा जी को वंदना, द्वितीये आदि गणेश, तृतीये सिमरा माँ शारदा, मेरे काटो सकल कलेश। जय हो तेरी गणराज गजानन, जय हो…

हे गजानंद महाराज घर म्हारे बेगा आ जाओ लिरिक्स

हे गजानंद महाराज घर म्हारे बेगा आ जाओ लिरिक्स

हे गजानंद महाराज घर म्हारे, बेगा आ जाओ, थारे आया बात बणसी, बेगा आ जाओ, थारे आया बात बणसी, बेगा आ जाओ।। सबसे पहले तुमको ध्याते, गणनायक गणराज, जल्दी आकर…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे