प्रथम पेज कृष्ण भजन दर्शन को अखियाँ प्यासी है कब दर्शन होगा श्याम धणी लिरिक्स

दर्शन को अखियाँ प्यासी है कब दर्शन होगा श्याम धणी लिरिक्स

दर्शन को अखियाँ प्यासी है,
कब दर्शन होगा श्याम धणी,
मुझ निर्धन के घर आँगन में,
कब आवन होगा श्याम धणी,
दर्शन को अखियां प्यासी है,
कब दर्शन होगा श्याम धणी।।

तर्ज – बाबुल की दुआएं।



मेरे घर में तुम्हे बिठाने को,

ना चौकी ना सिंहासन है,
ना दीपक ना बाती है,
ना अक्षत है ना चंदन है,
श्रद्धा के फूलों से तेरा,
अभिनन्दन होगा श्याम धणी,
दर्शन को अखियां प्यासी है,
कब दर्शन होगा श्याम धणी।।



सावन भादों दोनों बीते,

और बीती होली दिवाली है,
पर मुझे देखने नहीं मिली,
तेरी सूरत भोली भाली है,
ना जाने किस दिन अखियों को,
पग दर्शन होगा श्याम धणी,
Bhajan Diary Lyrics,
दर्शन को अखियां प्यासी है,
कब दर्शन होगा श्याम धणी।।



दर्शन को अखियाँ प्यासी है,

कब दर्शन होगा श्याम धणी,
मुझ निर्धन के घर आँगन में,
कब आवन होगा श्याम धणी,
दर्शन को अखियां प्यासी है,
कब दर्शन होगा श्याम धणी।।

Singer – Avinash karn


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।