चालो रे चालो सरकारी स्कूल चालो

चालो रे चालो सरकारी स्कूल चालो,
करेंगे पढ़ाई शान से हम करते हैं अभिमान,
चालों रे चालों सरकारी स्कूल चालो।।



मिलती छात्रवृत्ति मिलता है ट्रांसफर वाउचर,

सरकारी स्कूल में ट्रेंड टीचर पढ़ाते हमको जोर,
चालों रे चालों सरकारी स्कूल चालो।।



गांव ढाणी रे मायने सीनियर प्राइमरी स्कूल,

कंप्यूटर साइंस और कला कॉमर्स में होती पढ़ाई जोर,
चालों रे चालों सरकारी स्कूल चालो।।



दूध रोटी मिलती बच्चों को पोषाहार फल,

लाइट पानी शौचालय व्यवस्था खेलकूद मैदान,
चालों रे चालों सरकारी स्कूल चालो।।



आओ बच्चों को सरकारी स्कूल आओ,

लिखे सारण जोगाराम जी ए गरल बाड़मेर वासी,
चालों रे चालों सरकारी स्कूल चालो।।



रमेश सारण गावे ए मीठा सुर सुं बुलावे,

गीत ओ तो गूंज रेयो सारा हिंदुस्तान में,
चालों रे चालों सरकारी स्कूल चालो।।



चालो रे चालों सरकारी स्कूल चालो,

करेंगे पढ़ाई शान से हम करते हैं अभिमान,
चालों रे चालों सरकारी स्कूल चालो।।

गायक / प्रेषक – रमेश सारण बाङमेर
9571547445


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें