रतना रे जा ल्या सुगना ने कदे न आई वा त्योहारा ने

रतना रे जा ल्या सुगना ने कदे न आई वा त्योहारा ने

रतना रे जा ल्या सुगना ने, कदे न आई वा त्योहारा ने।। गांव न जाणु नाम न जाणु, सुरत न जाणु सिरदारा री, गांव पुंगलगढ नाम रतन सिंह, सांवली सुरत सिरदारा री।। घर मे घणा रे उटाऊ रतना, कमी नही असवारा...
भीड़ पड़ी भक्ता ने तारो देव गोसाई भजन

भीड़ पड़ी भक्ता ने तारो देव गोसाई भजन

भीड़ पड़ी भक्ता ने तारो, संकट मेटो म्हारा साईं, जागो म्हारा गरबा देव गोसाई।। पहलो पांव धरयो मक्का रे मदीना, दुजो जुंजाला रे माई, नामा देह कर धाम पुजाई, कदम रशूल गंवाई। भीड़ पड़ी भक्ता ने तारों, संकट मेटो म्हारा साईं, जागो म्हारा...
अजमल जी रा कंवरा पाठ पधारो जी भजन लिरिक्स

अजमल जी रा कंवरा पाठ पधारो जी भजन लिरिक्स

अजमल जी रा कंवरा, पाठ पधारो जी। दोहा - हरजी ने हरि मिलया, प्रभु आडे मार्ग आय, पुजन दिनो घोङलो, बाबो दूध पिवन दिनी गाय। अजमल जी रा कंवरा, पाठ पधारो जी, रूणिचे रा रामा, पाट पधारो जी, अब काळो जन्म सुधारो जी, पहला ळो...
तेरे बेटे तने बुलावै हो दादा आ जा एक बार लिरिक्स

तेरे बेटे तने बुलावै हो दादा आ जा एक बार लिरिक्स

तेरे बेटे तने बुलावै हो दादा, आ जा एक बार।। बैठे सै तेरा आसन लाकै, थारै नाम की ज्योत जगाकै, तारैं दर्शन करना चाहवै हो दादा, आ जा एक बार।। अमावस ने दादा तनैं बुलाकै, हरिद्वार तै गंगा जल लाकै, थारै थान...
सोहन शिखर घर तापे हो जोगेश्वर देसी भजन लिरिक्स

सोहन शिखर घर तापे हो जोगेश्वर देसी भजन लिरिक्स

गुरु कर ज्ञान ध्यान कर महुआ, तन वाटी मन झारा, सुखमण नार जगोवण आई, पीवो पीवण हारा, गगन मंडल घर सीजे हो राजेश्वर, सोहन शिखर घर तापे हो जोगेश्वर, बंक नाल हरि हरि उलट प्रेम रस पीवना।। काल क्रोध वठी तल...
म्हारी माताजी बैठा बैठा पुर नगरी के माई

म्हारी माताजी बैठा बैठा पुर नगरी के माई

म्हारी माताजी बैठा बैठा, पुर नगरी के माई, मंदिर यो मां प्यारो लागे जी, प्यारो लागे जी मंदिर यो, मां प्यारो लागे जी, म्हारा माता जी बैठा बैठा, पुर नगरी के माई, मंदिर यो मां प्यारो लागे जी।। मारा माता जी चौसठ...
उड़ उड़ बायरिया मधरो चाल जै रे देशांणे जाय जे

उड़ उड़ बायरिया मधरो चाल जै रे देशांणे जाय जे

उड़ उड़ बायरिया मधरो चाल जै रे, देशांणे जाय जे, कहिजे म्हारी मेहाई ने जाय, जाय रे कयां भूल गया म्हारी माँ।। उड़ जा रे सोहन काला कागला रे, काला कागला, कहिजे म्हारी करनादे ने जाय, जाय रे कयां भूल गया...
निर्भय होय हरि रा गुण गाया देसी भजन

निर्भय होय हरि रा गुण गाया देसी भजन

मोह पण काचा, म्हारा सतगुरु जी साचा, भई कृपा जद, संतो में लिया वासा, निर्भय होय हरि रा गुण गाया, ज्यारी बेल आलमराजा आया, जद म्हारी बेल निकलंक धणी आया।। अनेक संतो रे मैं तो, शरणो में आया, गुरु जी आगे, शीश नमाया, निर्भय होय...
सेठा में सांवरो सेठ बाकी सब डुप्लीकेट लिरिक्स

सेठा में सांवरो सेठ बाकी सब डुप्लीकेट लिरिक्स

सेठा में सांवरो सेठ, बाकी सब डुप्लीकेट, बाकी सब डुप्लीकेट, मोहन की फोटो सेट, सेठा में साँवरो सेठ, बाकी सब डुप्लीकेट।। देखे - सांवरिया सेठ दे दे। सेठ बणीयो एक नरसी मोटो, भगतां ने वो समझीयो छोटों, एक समय जब पडीयो टोटो, सांवल राखी...
हंसा अधर से आया पंछियों रे पिंजरे समाया लिरिक्स

हंसा अधर से आया पंछियों रे पिंजरे समाया लिरिक्स

अधर स्वरूपी हँसला आया, चोंच पांख नही लाया, बिना चोंच वो चुगो चुगत है, चुग चुग मोती खाया, हंसा अधर से आया, पंछियों रे पिंजरे समाया, वो तो धड़ शीश, पाव नहीं लाया।। अधर स्वरुपी एक तरवर उभो, डाल मूल नही छाया, पानो फूलों...

फ़िल्मी तर्ज भजन

700+ Popular Bhajan Lyrics

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे