प्रथम पेज आरती संग्रह

आरती संग्रह

Aarti Sangrah

रिमझिम उतारू थारी आरती रामदेवजी आरती लिरिक्स

0
रिमझिम उतारू थारी आरती, दोहा - लीलो घोडो नवलखो, मोत्या जडी लगाम, घोडे चढिया रामदेव, रूनीचा रो श्याम। ओ बाबा राम रणुजे वाला, गल बीच मोतीयन की माला, हाथ लिए हो...

आरती युगलकिशोर की कीजे तन मन भी न्योछावर कीजे

0
आरती युगलकिशोर की कीजे, तन मन भी न्योछावर कीजे।। गौरश्याम मुख निरखन लीजे, हरि का रूप नयन भरि पीजे, तन मन भी न्योछावर कीजे।। रवि शशि कोटि बदन की...

ॐ जय गंगे माता श्री जय गंगे माता आरती लिरिक्स

0
ॐ जय गंगे माता, श्री जय गंगे माता, जो नर तुमको ध्याता, मन वांछित फल पाता, ॐ जय गँगे माता।। चन्द्र सी ज्योत तुम्हारी, जल निर्मल आता, शरण पड़े जो तेरी, सो...

आरती उतार लो सीता रघुवर जी की लिरिक्स

0
आरती उतार लो, सीता रघुवर जी की, लक्ष्मण भरत शत्रुघ्न के संग, पवन तनय जी की, आरती उतार लों, सीता रघुवर जी की।। राज सिंहासन पर बैठे है, साथ में सीता...

श्री कोटड़ी श्याम चारभुजा चालीसा लिरिक्स

0
श्री कोटड़ी श्याम चारभुजा चालीसा लिरिक्स, दोहा - छैल छबीले श्याम की, शोभा बड़ी अनूप, रूप राशी वे गुण सदन, बने कोटड़ी भूप। धन्य धन्य यह कोटड़ी, जहाँ विराजे श्याम, श्री...

शिव पंचाक्षर स्तोत्र नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय लिरिक्स

1
शिव पंचाक्षर स्तोत्र, नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय, भस्माङ्गरागाय महेश्वराय, नित्याय शुद्धाय दिगम्बराय, तस्मै नकाराय नम: शिवाय।। मन्दाकिनीसलिलचन्दनचर्चिताय, नन्दीश्वरप्रमथनाथमहेश्वराय, मन्दारपुष्पबहुपुष्पसुपूजिताय, तस्मै मकाराय नम: शिवाय।। शिवाय गौरीवदनाब्जवृन्द, सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय, श्रीनीलकण्ठाय वृषध्वजाय, तस्मै शिकाराय नम: शिवाय।। वसिष्ठकुम्भोद्भवगौतमार्य, मुनीन्द्रदेवार्चितशेखराय, चन्द्रार्कवैश्वानरलोचनाय, तस्मै वकाराय नम: शिवाय।। यक्षस्वरूपाय जटाधराय, पिनाकहस्ताय सनातनाय, दिव्याय...

जय डमरूधर नयन विशाला काल भैरव चालीसा लिरिक्स

0
जय डमरूधर नयन विशाला, दोहा - श्री भैरव संकट हरन, मंगल करन कृपालु, करहु दया निज दास पे, निशि दिन दीनदयालु।। जय डमरूधर नयन विशाला, श्याम वर्ण वपु महा कराला।। जय...

मात श्री राणीसती जी मेरी कष्ट कर दूर भक्त के री...

0
मात श्री राणीसती जी मेरी, कष्ट कर दूर भक्त के री।। पाय मैं पडूँ मात थारे, क्षमा कर चूक भयी म्हारे, अनेको विघन आप टारे, काज निज भक्तन के...

श्री श्याम चालीसा हिंदी लिरिक्स खाटूश्याम चालीसा

0
श्री श्याम चालीसा, दोहा - श्री गुरु चरण ध्यान धर, सुमीर सच्चिदानंद, श्याम चालीसा बणत है, रच चौपाई छंद। श्याम श्याम भजि बारंबारा, सहज ही हो भवसागर पारा। इन सम देव...

ॐ जय श्री ओम बन्ना आरती लिरिक्स

0
ॐ जय श्री ओम बन्ना, ॐ जय श्री ओंम बन्ना, आरती री वेला पधारो, आरती री वेला पधारो, भक्त उडिके बाटा, ॐ जय श्री ओंम बन्ना।। पातावत राठौडी कुल में, आप...

फ़िल्मी तर्ज भजन

कृष्ण भजन लिरिक्स

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।