भरोसे आपके चाले जी सतगुरू मारी नाव भजन लिरिक्स

भरोसे आपके चाले जी,
सतगुरू मारी नाव,
सतगुरू मारी नाव,
दाता सतगुरू मारी नाव,
भरोसे आपके चले जी,
सतगुरू मारी नाव।।



न तो मारे कुटुम्ब कबीलो,

न मारे परिवार गुरासा,
आप बिना नही दिखे जग में,
दुजो तारणहार,
भरोसे आपके चले जी,
सतगुरू मारी नाव।।



बहुसागर तो उँडा घणा च,

नहीं पायो वाको पार गुरासा,
अरज करु आपसे रे,
लगाजो भव से पार,
भरोसे आपके चले जी,
सतगुरू मारी नाव।।



कोढी कोढी माया जोड ली,

जोडी लाख हजार गुरासा,
चार दन की चाँदनी रे,
पाछे वाही अँधेरी रात,
भरोसे आपके चले जी,
सतगुरू मारी नाव।।



अडसठ तीर्थ गरूचरणा में,

चारो धाम बताया,
गरु नाम का खाया झकोला,
वाही बैठ के नाया,
भरोसे आपके चले जी,
सतगुरू मारी नाव।।



भरोसे आपके चाले जी,

सतगुरू मारी नाव,
सतगुरू मारी नाव,
दाता सतगुरू मारी नाव,
भरोसे आपके चले जी,
सतगुरू मारी नाव।।

Sent By – Mahaveer Meena
9983873700


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

जेलों नेम भेम नहीं मन में पग पाछो मत मेलो

जेलों नेम भेम नहीं मन में पग पाछो मत मेलो

जेलों नेम भेम नहीं मन में, पग पाछो मत मेलो, कनीरामजी प्रेम प्यालो जेलों।। परमारथ की सार बताई माने, दियो धर्म को हेलो, जो सुख छावो जन्म मरण को, चंद्रकला…

पिछम री धरती सु मारो आलम राजा आवे जी भजन लिरिक्स

पिछम री धरती सु मारो आलम राजा आवे जी भजन लिरिक्स

पिछम री धरती सु मारो, आलम राजा आवे जी, पिछम धरा सु मारो, अनेक राजा आवे, भगता रो भिड़ु आवे, बाबा रामदेवजी आवे, ओ धोली ध्वजा फरूकावे, रामाधनीया जियो, धोली…

लाला म्हाने बिलखता छोड गयो किन ठौड़ आफत कई आ पड़ी

लाला म्हाने बिलखता छोड गयो किन ठौड़ आफत कई आ पड़ी

लाला म्हाने बिलखता छोड गयो, किन ठौड़ आफत कई आ पड़ी, बेटा श्रवण आई पानी तो म्हाने पाई, मैं जोवा थारी बाटडी।। पिता मात जन्म का अंधा, सेवा करता रे…

सतरी संगत म्हाने दीजो रे गुरूजी भजन लिरिक्स

सतरी संगत म्हाने दीजो रे गुरूजी भजन लिरिक्स

सतरी संगत म्हाने दीजो रे गुरूजी, दोहा – संत हमारी आत्मा, ने मै संतन की देह, रोम रोम में रमरया, प्रभु ज्यु बादल मे मेष। सतरी संगत म्हाने दीजो रे…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे