भक्तों का बेड़ा करदे पार भवानी भजन लिरिक्स

भक्तों का बेड़ा करदे पार भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।



अंधों ने माँ आंखे पायीं,

मूरख भये गुणवान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।



बांझन को माँ पुत्र दियो है,

निर्धन भये धनवान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।



गूंगे जय जय बोले तेरी,

निर्बल भये धनवान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।



तेरी कृपा माँ जो ही जावे,

भिक्षु देबे दान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।



तेरे दरश बिन वापस न जाऊं,

हमने लिया है ठान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।



थोड़ी दया मुझ पर भी करदे,

राजेन्द्र है नादान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।



भक्तों का बेड़ा करदे पार भवानी,

तेरी जग में शान भवानी,
तेरी जग में शान भवानी,
भक्तो का बेड़ा करदे पार भवानी।।

गीतकार / गायक – राजेन्द्र प्रसाद सोनी।
8839262340