प्रथम पेज राजस्थानी भजन बड़ी निराली महिमा है माल रा भेरू नाथ की लिरिक्स

बड़ी निराली महिमा है माल रा भेरू नाथ की लिरिक्स

बड़ी निराली महिमा,
है माल रा भेरू नाथ की।

दोहा – जिला राजसमंद मे,
बाजे तासोल गाँव,
धाम लागे रलीयावलो,
ज्यारा माल रा भेरू नाम।
माल रा भेरू कहावे,
परचा हाथो हाथ,
जो चरना चित लाविया,
ज्यारा कदेनी बिगडे बात।



बड़ी निराली महिमा,

है माल रा भेरू नाथ की,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो।।

तर्ज – जय बोलो महाकाल की।



गाँव तासोल मे मिन्दर बनीयो,

परचा है हद भारी,
गाँव तासोल मे मिन्दर बनीयो,
परचा है हद भारी,
दूर दूर सु आवे यात्री,
चरना मे नर नारी,
दूर दूर सु आवे यात्री,
चरना मे नर नारी,
भक्त हदुलीया गोलीया बेलीया,
करता जय जयकारी,
झालर शंख नगाडा बाजे,
दर्शन री बलिहारी,
किरपा आपकी पावे,
किरपा आपकी पावे,
हो कमी न कोई बात री,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो।।



दरवाजा की शोभा प्यारी,

घुडला झीण सवारी,
दरवाजा की शोभा प्यारी,
घुडला झीण सवारी,
नगारखाना छत्तर सारी,
गजमावत मनुहारी,
नगारखाना छत्तर सारी,
गजमावत मनुहारी,
काच जड्या निज मन्दिर माई,
शिखर कलश ध्वज धारी,
काला गोरा धर्मराज की,
शोभा लागे प्यारी,
खाली झोली भरदो,
खाली झोली भरदो,
ये बात आपके हाथ री,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो।।



शिव शंकर का अंश कहावे,

जटा जुट सिर धारी,
शिव शंकर का अंश कहावे,
जटा जुट सिर धारी,
गले मुंडन की माला सोहे,
राजे श्वान सवारी,
गले मुंडन की माला सोहे,
राजे श्वान सवारी,
धर्मराज घोडलीया मोहे,
सेवे नर ओर नारी,
देव धणी द्वार आपरी,
सदा करूँ जयकारी,
नानु पंडित महिमा गावे,
नानु पंडित महिमा गावे,
बाबा भेरूनाथ री,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो।।



बड़ी निराली महिमा,

है माल रा भेरू नाथ की,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो,
जय बोलो भेरूनाथ की जय बोलो।।

प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।