प्रथम पेज कृष्ण भजन बाबा खोल किवाड़ तेरा टाबर करे पुकार भजन लिरिक्स

बाबा खोल किवाड़ तेरा टाबर करे पुकार भजन लिरिक्स

बाबा खोल किवाड़,
तेरा टाबर करे पुकार,
दिन गिन महीना बीत गया,
ना होवे इंतजार,
दिन गिन महीना बीत गया,
ना होवे इंतजार।।

तर्ज – सावन का महीना।



तेरे दरश को व्याकुल,

नैना ये तरसे,
याद में तेरी,
सारी सारी रात बरसे,
सावन में भी तुम बिन,
ना है कोई बहार,
दिन गिन महीना बीत गया,
ना होवे इंतजार।।



गलती हुई क्या हमसे,

इतना बता दो,
नादान है हमें अब ना,
इतनी सजा दो,
तुम बिन सब सुना है,
जीवन लागे बेकार,
दिन गिन महीना बीत गया,
ना होवे इंतजार।।



फागुण के पाछे बाबा,

हमे क्यों भुलाई,
पीहर है म्हारो खाटू,
काहे न बुलाई,
बाबुल से मिलने को,
‘मिक्कू’ है बेकरार,
दिन गिन महीना बीत गया,
ना होवे इंतजार।।



बाबा खोल किवाड़,

तेरा टाबर करे पुकार,
दिन गिन महीना बीत गया,
ना होवे इंतजार,
दिन गिन महीना बीत गया,
ना होवे इंतजार।।

Singer – Pinki Ji Gehlot


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।