बापरो रे कियो बेटो रे नही मोने एडो एडो कलजग आवे

बापरो रे कियो बेटो रे नही मोने,
चेला गुरु ने घरकावे राजपरिसद,
पोरो पापरो आवे है रे हा।।



अरे साला आवेतो गणो मन राजी रे,

पसे भाइयो में वेर चलावे राजापरिषद,
एडो एडो कलजग आवे।।



जीवतो मावित्रो ने रोटी नही देव,

हरे मुआ पसे गंगाजी राजा परिषद,
पोरो पापरो आवे है रे हा।।


सोले दनो रा श्राद मानव,
पसे कागलोने बाप वणावे राजा परिषद,
एडो कलजग आवे रे हा।।



हरे घर की नारी कियोरे नही मोने,

पसे परगर मुजा मोले राजपरिसद,
पोरो पापरो आवे है रे।।



कहत कबीरा सुणे रे भाई सादु,

हरे एडो एडो कलजग आवे राजा परिसद,
पोरो पापरो आवे है रे।।



बापरो रे कियो बेटो रे नही मोने,

चेला गुरु ने घरकावे राजपरिसद,
पोरो पापरो आवे है रे हा।।

– गायक एवं प्रेषक –
हाज़ाराम देवासी
8150000451


 

इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

आई फागण की ग्यारस आपा पैदल चाला रे खाटू श्याम जी भजन

आई फागण की ग्यारस आपा पैदल चालां ला रे खाटू श्याम जी भजन

आई फागण की ग्यारस, आपा पैदल चालां ला रे, खाटू श्याम जी, हारे का सहारो म्हारो, लखदातार खाटू श्याम जी, आई फागण की ग्यारस, आपा पैदल चालां ला रे, खाटू…

बन्नो मारो चारभुजा रो नाथ भजन लिरिक्स

बन्नो मारो चारभुजा रो नाथ भजन लिरिक्स

बन्नो मारो चारभुजा रो नाथ, बन्नी मारी तुलसा लाडली।। विनायक रिद्धि सिद्धि संग लाया जी, विनायक रिद्धि सिद्धि संग लाया, रसोड़े कुबेर भंडार खुलाया जी, रसोड़े कुबेर भंडार खुलाया, गंधर्व…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे