खेलो मोटा चौक में चामुण्डा राजस्थानी भजन लिरिक्स

खेलो मोटा चौक में चामुण्डा ए,
खेलो मोटा चौक में चामुंडा,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे,
ए नव नव आया नोरता माताजी ए,
नव नव आया नोरता चामुण्डा,
अरे गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे।।



नवदुर्गा संग आवजो भवानी ए,

नवदुर्गा संग आवजो भवानी,
गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
खेलो मोटा चौक में चामुंडा ए,
खेलो मोटा चौक में चामुंडा,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे।।



अरे कर सोलह सिनगार ए भवानी,

ए कर सोलह सिनगार ए भवानी,
गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
अरे गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
खेलो मोटा चौक में चामुंडा ए,
खेलो मोटा चौक में चामुंडा,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे।।



अरे माथे रकडी सोवनी महारानी ए,

सिर पे रकडी सोवनी महारानी,
थारे बिन्दीया लाल गुलाल शेरोवाली ए,
थारे बिन्दीया लाल गुलाल शेरोवाली ए,
ए नव नव आया नोरता चामुण्डा ए,
नव नव आया नोरता चामुण्डा,
अरे गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे।।



अरे बाया मे चुडलो दातरो चामुण्डा ए,

बाया मे चुडलो दातरो चामुण्डा,
अरे थारे गले नवलखो हार सुन्धा वाली रे,
थारे गले में नवसर हार सुन्धा वाली रे,
ए नव नव आया नोरता चामुण्डा ए,
नव नव आया नोरता चामुण्डा,
अरे गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे।।



अरे पगो मे पायल बाजनी महारानी ए,

पगो मे पायल बाजनी महारानी,
माँ बिछ्या रो झनकार सुन्धा वाली रे,
माँ बिछ्या रो झनकार सुन्धा वाली रे,
खेलो मोटा चौक में चामुंडा ए,
खेलो मोटा चौक में चामुंडा,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे।।



खेलो मोटा चौक में चामुण्डा ए,

खेलो मोटा चौक में चामुंडा,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे,
चौसठ जोगन रे साथ सुन्धा वाली रे,
ए नव नव आया नोरता माताजी ए,
नव नव आया नोरता चामुण्डा,
अरे गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे,
गरबे रमवा आव सुन्धा वाली रे।।

गायक – सरिता जी खारवाल।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें