अयोध्या सज रही सारी अवध में राम आये है लिरिक्स

खुशी सबको मिली भारी,
अवध में राम आये है,
अवध में राम आये है,
प्रभु श्री राम आये है,
सिया के राम आये है,
अयोध्या सज रही सारी,
अवध में राम आये है।।

तर्ज – अवध में राम आये है।



जले है दीप घर घर में,

मना उत्सव जगत भर में,
मिले दिल बेरुखी हारी,
अवध में राम आये है।।



जगत के प्राणी जो सारे,

प्रभु श्री राम को प्यारे,
मगन है आज नर नारी,
अवध में राम आये है।।



चली गई दुख भरी रैना,

दर्श को प्यासे के नैना,
सुबह आई है उजियारी,
अवध में राम आये है।।



देवता फूल बरसाये,

पुजारी पूजा करवाये,
छवि ‘भूलन’ बड़ी प्यारी
अवध में राम आये है।।



खुशी सबको मिली भारी,
अवध में राम आये है,
अवध में राम आये है,
प्रभु श्री राम आये है,
सिया के राम आये है,
अयोध्या सज रही सारी,
अवध में राम आये है।।

गायक – हरीश मगन।
प्रेषक – दीपक शर्मा।
9999329034


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

मोरे श्यामल वरन के राम राम मोहे प्यारे लगे लिरिक्स

मोरे श्यामल वरन के राम राम मोहे प्यारे लगे लिरिक्स

मोरे श्यामल वरन के राम, राम मोहे प्यारे लगे।। मस्तक मुकुट और तिलक विराजे, कानन कुंडल प्रभु को साजे, लये हाथ धनुष और बान, राम मोहे प्यारे लगे।। सुंदरता जिन्हें…

परदेसी परदेसी चला गया पिंजरा तोड़ के लिरिक्स

परदेसी परदेसी चला गया पिंजरा तोड़ के लिरिक्स

परदेसी परदेसी चला गया, पिंजरा तोड़ के, पिंजरा तोड़ के, फिर कैसे रिश्ते नाते, कैसी ये माया, तेरे ही अपनो ने, तुझको जलाया, परदेसी परदेसी चलां गया, पिंजरा तोड़ के,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे