अयोध्या नाथ से जाकर पवनसुत हाल कह देना लिरिक्स

अयोध्या नाथ से जाकर,
पवनसुत हाल कह देना,
तुम्हारी लाड़ली सीता,
हुई बेहाल कह देना,
अयोंध्या नाथ से जाकर,
पवनसुत हाल कह देना।।



जब से लंका में आई,

नहीं श्रृंगार है कीन्हा,
नहीं बांधे अभी तक,
खुले है बाल कह देना,
अयोंध्या नाथ से जाकर,
पवनसुत हाल कह देना।।



यहाँ रावण सदा धमकी,

मुझे तलवार की देता,
करो तलवार के टुकड़े,
ये अंजनीलाल कह देना,
अयोंध्या नाथ से जाकर,
पवनसुत हाल कह देना।।



अंगूठी राम को देकर,

सुनाना हाल सब दिल का,
भूले राम सीता को,
ये अंजनीलाल कह देना,
अयोंध्या नाथ से जाकर,
पवनसुत हाल कह देना।।



अगर एक मास के अन्दर,

मेरे राम ना आये,
तो सीता राम ना पाये,
ये अंजनीलाल कह देना,
अयोंध्या नाथ से जाकर,
पवनसुत हाल कह देना।।



अयोध्या नाथ से जाकर,

पवनसुत हाल कह देना,
तुम्हारी लाड़ली सीता,
हुई बेहाल कह देना,
अयोंध्या नाथ से जाकर,
पवनसुत हाल कह देना।।

गायक – पं. श्री रविकांत भार्गव।
प्रेषक – मनोज।
9425072274


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

पाना है यदि प्रभु को तो प्यार में मिलेगा लिरिक्स

पाना है यदि प्रभु को तो प्यार में मिलेगा लिरिक्स

पाना है यदि प्रभु को, तो प्यार में मिलेगा, कण कण में ढूंढो प्यारे, कण कण में ढूंढो प्यारे, संसार में मिलेगा, पाना हैं यदि प्रभु को, तो प्यार में…

एक दिन सबको जाना होगा लौट कभी ना आना होगा

एक दिन सबको जाना होगा लौट कभी ना आना होगा

एक दिन सबको जाना होगा, लौट कभी ना आना होगा, जिसे समझता है अपना, बैगाना होगा, लौट कभी ना आना होगा।। तर्ज – झिलमिल सितारों का। कोठी बंगला कार देख…

बेटीयां बोझ होती नहीं याद आती हैं ये विदा होने के बाद

बेटीयां बोझ होती नहीं याद आती हैं ये विदा होने के बाद

बेटीयां बोझ होती नहीं, याद आती हैं ये विदा होने के बाद, बेटे के मोह में ना भुलाना इन्हें, याद आती हैं ये विदा होने के बाद, बेटीयां बोझ होती…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

2 thoughts on “अयोध्या नाथ से जाकर पवनसुत हाल कह देना लिरिक्स”

  1. मुझे भजन कीर्तन बहुत अच्छे लगते हैं और में उसमें रुचि रखता हैं ओर गया भी हू

    Reply

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे