ऐसे कैसे तुझसे बाबा टूटेगा ये रिश्ता पुराना लिरिक्स

ऐसे कैसे तुझसे बाबा,
टूटेगा ये रिश्ता पुराना,
आधा मैं निभाऊं,
आधा तुम निभाना,
ऐसे कैसे तुझसें बाबा,
टूटेगा ये रिश्ता पुराना।।

तर्ज – तेरे मेरे बिच में कैसा।



तुझे छोड़ बाबा हम तो,

किसी को ना जाने,
किसी को ना जाने बस,
तुझे पहचाने,
हाथ हाथों से ना छुड़ाना,
हाथ हाथों से ना छुड़ाना,
आधा मैं निभाऊं,
आधा तुम निभाना,
ऐसे कैसे तुझसें बाबा,
टूटेगा ये रिश्ता पुराना।।



पूजा विधि जप तप,

करना ना जाने,
प्रेम पुजारी तेरे,
प्रेम को माने,
प्रेम सबर से अनजाना,
प्रेम सबर से अनजाना,
आधा मैं निभाऊं,
आधा तुम निभाना,
ऐसे कैसे तुझसें बाबा,
टूटेगा ये रिश्ता पुराना।।



तुझको ना छोड़ें और,

ना छोड़ेंगे,
सुन ले तुझे भी बाबा,
छोड़ने ना देंगे,
‘निर्मल’ तेरा दीवाना,
‘निर्मल’ तेरा दीवाना,
आधा मैं निभाऊं,
आधा तुम निभाना,
Bhajan Diary Lyrics,
ऐसे कैसे तुझसें बाबा,
टूटेगा ये रिश्ता पुराना।।



ऐसे कैसे तुझसे बाबा,

टूटेगा ये रिश्ता पुराना,
आधा मैं निभाऊं,
आधा तुम निभाना,
ऐसे कैसे तुझसें बाबा,
टूटेगा ये रिश्ता पुराना।।

Singer – Saurabh Sharma