सुनले ओ सांवरिया मुझे तेरा ही सहारा भजन लिरिक्स

सुनले ओ सांवरिया मुझे तेरा ही सहारा,
तेरा ही सहारा मुझे तेरा ही सहारा।।

तर्ज – सारी दुनिया प्यारी पर तू है।



दूर दूर तक ओ सांवरिये,

सूझे नहीं किनारा,
एक बार आ जाओ मन मोहन,
मैंने तुम्हे पुकारा,
तुझ बिन कौन हमारा,
बाबा तुझ बिन कौन हमारा,
तेरा ही सहारा मुझे तेरा ही सहारा।।



नैया हमारी ओ सांवरिया,

अब है तेरे भरोसे,
खेते खेते हार गया हूँ,
डरता हूँ लहरों से,
घिर गए काले बादल,
घिर गए काले बादल,
और छाया है अँधियारा,
तेरा ही सहारा मुझे तेरा ही सहारा।।



अंधियारी रातों में कान्हा,

बिजली कढ़ कढ़ कढ़के,
डूब न जाए नैया मेरी,
दिल मेरा ये धडके,
‘श्याम’ को भी तारो,
‘श्याम’ को भी तारो,
लाखों को तुमने तारा,
तेरा ही सहारा मुझे तेरा ही सहारा।।



सुनले ओ सांवरिया मुझे तेरा ही सहारा,

तेरा ही सहारा मुझे तेरा ही सहारा।।

स्वर – संजू शर्मा जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें