ऐ भोले मेरे ऐ बाबा मेरे तुझमे निराली बात लिरिक्स

ऐ भोले मेरे ऐ बाबा मेरे,
तुझमे निराली बात,
देता है नित नयी नयी,
भक्तों को तू सौगात।।

तर्ज – ए जाने चमन।



भक्तों के हित के कारण,

बिष कंठ में धरा,
बिष पान करके तुमने,
जग को किया सनाथ,
ऐ भोलें मेरे ऐ बाबा मेरे।।



अपने भगत के कारण,

गंगा को सिर धरा,
फिर शीश से बहादी,
धरती पे गंगा मात,
ऐ भोलें मेरे ऐ बाबा मेरे।।



भक्ति मिली तेरी जिसे,

तक़दीर बन गयी,
काली अंधेरी रात को,
तूने किया प्रभात,
ऐ भोलें मेरे ऐ बाबा मेरे।।



तू है बड़ा दयालु,

कृपा बहा रहा,
‘राजेन्द्र’ के भी सिर पे,
रखदे दया का हाथ,
ऐ भोलें मेरे ऐ बाबा मेरे।।



ऐ भोले मेरे ऐ बाबा मेरे,

तुझमे निराली बात,
देता है नित नयी नयी,
भक्तों को तू सौगात।।

गीतकार / गायक – राजेन्द्र प्रसाद सोनी।
8839262340