​आओ क़रीब आओ मेरा दिल उदास है भजन लिरिक्स

​आओ क़रीब आओ मेरा दिल उदास है भजन लिरिक्स

​आओ क़रीब आओ मेरा दिल उदास है,

श्लोक – गम सहकर के जीना जिंदगी में,
यहाँ बुजदिलो की कदर नहीं होती।
हँसना मुसीबत में जब बुरी है ठोकर,
जिंदगी बशर नहीं होती।।

चांदनी रात में बरसात बुरी लगती है,
दर्द अगर सीने में हो तो,
हर बात बुरी लगती है।।



​आओ क़रीब आओ मेरा दिल उदास है,

मुझसे नज़र मिलाओ,
मेरा दिल उदास है।। 



ये जाम ये सुराही,

मेरे काम की नहीं, 
हाथों से तुम पिला दो, 
मेरा दिल उदास है।।

​आओ करीब आओ,
मेरा दिल उदास है,
मुझसे नज़र मिलाओ,
मेरा दिल उदास है।। 



ये लोग हंस रहे है,

मेरा हाल जानकर, 
दामन मेरा छुड़ालो, 
मेरा दिल उदास है।।

​आओ करीब आओ,
मेरा दिल उदास है,
मुझसे नज़र मिलाओ,
मेरा दिल उदास है।। 



​आओ क़रीब आओ मेरा दिल उदास है,

मुझसे नज़र मिलाओ,
मेरा दिल उदास है।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें