प्रथम पेज हरियाणवी भजन आज्या बालाजी हनुमान तनै तेरे भगत बुलावे सं

आज्या बालाजी हनुमान तनै तेरे भगत बुलावे सं

आज्या बालाजी हनुमान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं।।



कलयुग अपना जोर जमावः,

माणस ने ना माणस चाहवः,
हो रहया खुदगरजी इंसान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं,
आजया बालाजी हनुमान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं।।



ऐसा टाइम आ गया गन्दा,

मोह माया में फस गया बंदा,
ना रहया भक्ति में ध्यान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं,
आजया बालाजी हनुमान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं।।



धर्म कर्म का मोल नहीं स,

झूठा और बेईमान सही स,
इनकी ऊंची होरी शान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं,
आजया बालाजी हनुमान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं।।



कह दी कर्मबीर ने सारी,

प्रगट होजया बलकारी,
काटे सुरजमल के कष्ट तमाम,
तनै तेरे भगत बुलावे सं,
आजया बालाजी हनुमान,
तनै तेरे भगत बुलावे सं।।



आज्या बालाजी हनुमान,

तनै तेरे भगत बुलावे सं।।

गायक – नरेंद्र कौशिक जी।
प्रेषक – राकेश कुमार खरक जाटान
(रोहतक) 9992976579


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।