प्रथम पेज राजस्थानी भजन आज धराऊ धोरा धुंधला गोगाजी भजन लिरिक्स

आज धराऊ धोरा धुंधला गोगाजी भजन लिरिक्स

आज धराऊ धोरा,
धुंधला गोगाजी रे,
मोटोडी़ चोटोरो बरसे मेस,
हो धरमी राजा,
आज धराऊं धोरा,
धुंधला गोगाजी,
मोटोडी़ सोटोरो बरसे,
मेस हो धर्मी राजा,
थे मोरे आइजो,
पोमणा गोगाजी ओ,
भरिए भादरवा रे,
माय हो धर्मी राजा,
लिलो लिलो घोड़ो थोरे,
हंसलो गोगाजी ओ,
मोतीड़ा जड़ी,
लगाम हो धर्मी राजा,
लिलो लिलो घोड़ो थोरे,
हंसलो गोगाजी,
मोतीड़ा जड़ी,
लगाम हो धर्मी राजा,
आज धराऊं धोरा,
धुंधला गोगाजी,
मोटोड़ी सोटोरो बरसे,
मेस हो धर्मी राजा।।



बोडकी हरापो परो,

नोकीयो गोगाजी हो
बैठी बुठाने वाली,
ओट हो धर्मी राजा,
बोडकी ने राखो काठोत,
गोगाजी ओ,
परी मेलो सातवें,
पियाल हो धर्मी राजा,
ऊंचो ऊंचो देवल थोरो,
दीपतो गोगाजी ओ,
ध्वजा फरुके,
असमान हो धर्मी राजा,
कतरा विंगो में बोवु,
बाजरी गोगाजी ओ.
कतरा विंगो में बोवु,
ज्वार हो धर्मी राजा,
बारह विंगो में बोवु,
बाजरी गोगाजी हो,
तेरह विंगो में बोवु,
ज्वार हो धर्मी राजा।।



आंगने जपुके पारस,

पीपली गोगाजी हो,
थोरी ध्वजा फरूके,
असमान हो धर्मी राजा,
गावे बजावे भीमो,
बोमणी गोगाजी हो,
राखो रे चरणो रे,
माय हो धर्मी राजा,
आज धराऊ धोरा,
धुंधला गोगाजी,
मोटोड़ी सोटोरो बरसे,
मेस हो धर्मी राजा।।

गायक – प्रमोद पंडित।
प्रेषक – सौरव गर्ग।
अर्जियाना, तह. – सिवाना,
जिला – बाड़मेर ( राज.)
मो. – 9610190649


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।