आईजी बेलीयाँ रे गला में बाजे घुंगरा आई माता भजन

आईजी बेलीयाँ रे गला में बाजे घुंगरा,
आईजी बेलीयाँ रे गला मे बाजे घुंगरा,
माजी बेंगलुरु मे आयी थारी बैल,
दिवान साहब आया साथ में,
माजी बेंगलुरु में आयी थारी बैल,
दिवान साहब आया साथ मे।।



आईजी कनकपुरा रोड़ बडेर सोवनी,

आईजी कनकपुरा रोड़ बडेर सोवनी,
माजी दिवला रो बडेर मे प्रकाश,
सेवकीया गावे आरती,
माजी दिवला रो बडेर मे प्रकाश,
सेवकीया गावे आरती।।



आईजी सुकन्दकटे बडेर लागे फुटरी,

आईजी सुकन्दकटे बडेर लागे फुटरी,
माजी आईजी वाटिका मन हर्षाय,
भगता री जागे भावना,
माजी आईजी वाटिका मन हर्षाय,
भगता री जागे भावना।।



आईजी वल्लेपेट मनडो मोय रही,

आईजी वल्लेपेट मनडो मोय रही,
थारा भगत करे है जय जयकार,
सहेलियाँ मंगला गाई रही,
थारा भगत करे है जय जयकार,
सहेलियाँ मंगला गाई रही।।



आईजी मरत्तहल्ली बडेर री मोटी किर्ति,

आईजी मरत्तहल्ली बडेर री मोटी किर्ति,
अटे भजन होवे हर शनिवार,
हर्षावे हर मानवी,
अटे भजन होवे हर शनिवार,
हर्षावे हर मानवी।।



आईजी किशोर ने सुमन बालक आपरा,

आईजी किशोर ने सुमन बालक आपरा,
माजी ‘लखन चौधरी’ गावे गुण गान,
चरना मे ज्याने राखजो,
माजी लखन चौधरी गावे गुण गान,
चरना मे ज्याने राखजो।।



आईजी बेलीयाँ रे गला में बाजे घुंगरा,

आईजी बेलीयाँ रे गला मे बाजे घुंगरा,
माजी बेंगलुरु मे आयी थारी बैल,
दिवान साहब आया साथ में,
माजी बेंगलुरु में आयी थारी बैल,
दिवान साहब आया साथ मे।।

लेखक – लखन चौधरी जी।
गायक – श्याम पालीवाल जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें