आ दरश दिखा दे गुरुदेव तुझे तेरे लाल बुलाते है भजन लिरिक्स

आ दरश दिखा दे गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है,
तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे तेरे लाल बुलाते है,
आ दर्श दिखा दे गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।।

तर्ज – आ लौट के आजा मेरे मीत।
देखे – मेरी लगी गुरु संग प्रीत।



आँखों के आंसू सूख चुके है,

अब तो दरश दिखा दे,
कब से खड़े है दर पर तेरे,
मन की तू प्यास बुझा दे,
तेरी लीला निराली गुरुदेव,
तेरी लीला निराली गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।

तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे तेरे लाल बुलाते है,
आ दर्श दिखा दे गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।।



बीच भंवर में नईया पड़ी है,

आकर तू पार लगा दे,
तेरे सिवा मेरा कोई नहीं है,
आकर गले से लगा ले,
क्यूँ देर लगाते गुरुदेव,
क्यूँ देर लगाते गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।

तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे तेरे लाल बुलाते है,
आ दर्श दिखा दे गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।।



डूब रहा है सुख का ये सूरज,

गम की बदरिया है छाई,
उजड़ गयी बगिया जीवन की,
मन की कलि मुरझाई,
करे विनती ये बालक आज,
करे विनती ये बालक आज,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।

तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे तेरे लाल बुलाते है,
आ दर्श दिखा दे गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।।



वैसे तो तुम हो मन में हमारे,

आँखे नहीं मानती है,
इक पल गुरु से ये अब बिछुड़ कर,
रहना नहीं चाहती है,
बरबस बरसाए नीर,
बरबस बरसाए नीर,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।

तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे तेरे लाल बुलाते है,
आ दर्श दिखा दे गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।।



आ दरश दिखा दे गुरुदेव,

तुझे तेरे लाल बुलाते है,
तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे रो रो पुकारे मेरे नैन,
तुझे तेरे लाल बुलाते है,
आ दर्श दिखा दे गुरुदेव,
तुझे तेरे लाल बुलाते है।।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

देखो म्हारो श्याम कइयां जच रहयो है भजन लिरिक्स

देखो म्हारो श्याम कइयां जच रहयो है भजन लिरिक्स

देखो म्हारो श्याम, कइयां जच रहयो है, सिंघासन पे बैठयो, बैठयो हँस रयो है।। तर्ज – एक परदेसी मेरा। सांवरी सलोनी छवि, भोळो भाळो मुखड़ो, प्रेम से निहार ले वो,…

जिस दिन मैया जी तेरा दर्शन होगा भजन लिरिक्स

जिस दिन मैया जी तेरा दर्शन होगा भजन लिरिक्स

जिस दिन मैया जी तेरा दर्शन होगा, तर्ज – झिलमिल सितारों का आँगन होगा जिस दिन मैया जी तेरा दर्शन होगा, उस दिन सफल मेरा जीवन होगा, तन मन मेरा…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

2 thoughts on “आ दरश दिखा दे गुरुदेव तुझे तेरे लाल बुलाते है भजन लिरिक्स”

  1. यह भजन संत श्री आशारामजी बापूजी के आश्रम के एक संचालक रहे साधक मिश्रा जी ने लिखा था ऐसे कई भजन उन्होंने लिखे है।
    मिश्रा जी अभी हमारे बीच नहीं हैं।पर उनका भाव इन भजनों द्वारा हम सबके बीच अभी भी मौजूद हैं।

    Reply

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे