ये तुम्हारी है कृपा माँ तेरा दर्शन हो रहा भजन लिरिक्स

ये तुम्हारी है कृपा माँ,
तेरा दर्शन हो रहा,
तेरा दर्शन हो रहा माँ,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ,
तेरा दर्शन हो रहा।।

तर्ज – सांवली सूरत पे मोहन।



माँ तेरे नवरात्रे आये,

सारे जग में धूम है,
हो रहा घर घर में कीर्तन,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ,
तेरा दर्शन हो रहा।।



सज गए मंदिर तुम्हारे,

भीड़ दर पे हो गयी,
हो रहा है पूजा अर्चन,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ,
तेरा दर्शन हो रहा।।



हर जुबाँ पे नाम तेरा,

हर तरफ जलवा तेरा,
नौ नौ रूपों का है वंदन,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ,
तेरा दर्शन हो रहा।।



तू ही माता तू विधाता,

सृष्टि तेरे हाथ में,
दुनिया है तुमसे ही रोशन,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ,
तेरा दर्शन हो रहा।।



देवता भी कर रहे है,

फूलों की वर्षा घनी,
कर रहे त्रिदेव वंदन,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ,
तेरा दर्शन हो रहा।।



देना हमको सेवादारी,

‘चोखानी’ की अर्ज है,
सेवा में अर्पित है तन मन,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ,
तेरा दर्शन हो रहा।।



ये तुम्हारी है कृपा माँ,

तेरा दर्शन हो रहा,
तेरा दर्शन हो रहा माँ,
तेरा दर्शन हो रहा,
ये हमारा भाग्य है माँ ,
तेरा दर्शन हो रहा।।

Singer – Upasana Mehta


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सच्चा है माँ का दरबार मैय्या का जवाब नही भजन लिरिक्स

सच्चा है माँ का दरबार मैय्या का जवाब नही भजन लिरिक्स

सच्चा है माँ का दरबार, मैय्या का जवाब नही। – श्लोक – दरबार हजारो देखे है, पर माँ के दर सा कोई, दरबार नही, जिस गुलशन मे, माँ का नूर…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे