प्रथम पेज दुर्गा माँ भजन अर्जी तू मेरी सुनले मेरी मैया शेरावाली भजन लिरिक्स

अर्जी तू मेरी सुनले मेरी मैया शेरावाली भजन लिरिक्स

अर्जी तू मेरी सुनले,
मेरी मैया शेरावाली,
मेरी मैया शेरावाली,
मेरी मैया मेहरावाली,
मेरी मैया लाटावाली,
अरजी तू मेरी सुनले,
मेरी मैया शेरावाली।।



दर तेरा सबसे ऊंचा,

पर दूर मैं सवाली,
दर पे मुझे बुलाले,
मर जाऊँ ना सवाली,
अरजी तू मेरी सुनले,
मेरी मैया शेरावाली।।



दर दर की मैंने खाई,

ठोकर माँ शेरावाली,
सब को है मैंने देखा,
बस तू ही माँ हमारी,
अरजी तू मेरी सुनले,
मेरी मैया शेरावाली।।



दर्शन को मैं तो तड़पूँ,

दर्शन तो मुझको दे दो,
बस ये ही आस तुमसे,
मेरी आस पूरी कर दो
अरजी तू मेरी सुनले,
मेरी मैया शेरावाली।।



अर्जी तू मेरी सुनले,

मेरी मैया शेरावाली,
मेरी मैया शेरावाली,
मेरी मैया मेहरावाली,
मेरी मैया लाटावाली,
अरजी तू मेरी सुनले,
मेरी मैया शेरावाली।।

गायक – सरदार मनेंदर सिंह।


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।