घर में पधारो माँ लक्ष्मी मेरे घर में पधारो भजन लिरिक्स

घर में पधारो माँ लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो,
घर में पधारो घर में पधारो,
घर में पधारो घर में पधारो,
कष्ट निवारो माँ लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो।।

तर्ज – घर में पधारो गजानंद जी।



तुम रिद्धि वाली,

तुम सिद्धि वाली,
दुःख से उबारो माँ लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो,
घर में पधारो मां लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो।।



सब सुख पाए,

धन्य हो जाए,
जिस को निहारे माँ लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो,
घर में पधारो मां लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो।।



भक्त पुकारे,

आरती उतारे,
ममता रूप धारो माँ लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो,
घर में पधारो मां लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो।।



मंगल करनी,

अमंगल हरनी,
संकट टालो माँ लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो,
Bhajan Diary,
घर में पधारो मां लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो।।



घर में पधारो माँ लक्ष्मी,

मेरे घर में पधारो,
घर में पधारो घर में पधारो,
घर में पधारो घर में पधारो,
कष्ट निवारो माँ लक्ष्मी,
मेरे घर में पधारो।।

Singer – Tripti Shakya