याद सतावे श्याम धणी थारी याद सतावे रे भजन लिरिक्स

याद सतावे श्याम धणी थारी,
याद सतावे रे,
कब से तेरी बाट निहारुं,
क्यों नहीं आवे रे।।

तर्ज – अब तो आजा करके बाबा।



बीच भंवर में नैया डोले,

क्यों नहीं आंख्या खोले,
थारे जैसो नहीं खिवईयो,
सेवक थारा बोले,
नैना सु असुवन की धारा,
बहती जावे रे,
कब से तेरी बाट निहारुं,
क्यों नहीं आवे रे।।



हुई मोहब्बत तुमसे कन्हैया,

मैं किसको समझाऊँ,
तेरा मेरा साथ ना छूटे,
मैं बतलाना चाहूँ,
सांवरिया थाने तरस ना आवे,
म्हाने गले लगा जा रे,
कब से तेरी बाट निहारुं,
क्यों नहीं आवे रे।।



कुछ तो बोलो म्हारा सांवरा,

इक बार सामी आके,
घणा थाने बुलवाऊं कोनी,
यो वादा तेरे सागे,
दास मेरो है तू भी ‘बंटू’,
इतनो कह जा रे,
कब से तेरी बाट निहारुं,
क्यों नहीं आवे रे।।



याद सतावे श्याम धणी थारी,

याद सतावे रे,
कब से तेरी बाट निहारुं,
क्यों नहीं आवे रे।।

Singer & Writer – Bantu Bhaiya Ji


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें