तू साथ है मेरे मेरी हार नहीं होगी भजन लिरिक्स

तू साथ है मेरे,
मेरी हार नहीं होगी,
ये अर्ज है मेरी,
बेकार नहीं होगी,
सांवरे तुझसे मेरी आस है,
सांवरे तू तो मेरे पास है।।

तर्ज – मिलना हमें तुमसे।



द्रोपदी ने जब तुमको,

रो रो बुलाया था,
बहना का भाई बन,
मेरा श्याम आया था,
दरबार में बहना,
शर्मसार नहीं होगी,
ये अर्ज है मेरी,
बेकार नहीं होगी,
सांवरे तुझसे मेरी आस है,
सांवरे तू तो मेरे पास है।।



जब साथ है तेरा,

दुःख हो नहीं सकता,
तू पार लगाए ना,
ये हो नहीं सकता,
बच्चो की हार तुम्हें,
स्वीकार नहीं होगी,
ये अर्ज है मेरी,
बेकार नहीं होगी,
सांवरे तुझसे मेरी आस है,
सांवरे तू तो मेरे पास है।।



जीवन से जो हारे,

उनको जिताता है,
मेरा सांवरा सबकी,
बिगड़ी बनाता है,
मेरे सांवरे जैसी,
सरकार नहीं होगी,
ये अर्ज है मेरी,
बेकार नहीं होगी,
सांवरे तुझसे मेरी आस है,
सांवरे तू तो मेरे पास है।।



तू साथ है मेरे,

मेरी हार नहीं होगी,
ये अर्ज है मेरी,
बेकार नहीं होगी,
सांवरे तुझसे मेरी आस है,
सांवरे तू तो मेरे पास है।।

गायक – राकेश जी काला।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें