तेरी मोरछड़ी बाबा लहराई तभी है भजन लिरिक्स

जब भी विपदा आगे,
मेरे आई कभी है,
तेरी मोरछड़ी बाबा,
लहराई तभी है,
मेरा तो श्याम,
सहारा तू ही है,
मेरा तो श्याम,
गुजारा तू ही है।।

तर्ज – तुझे ना देखूं तो चैन।



डर ना लगे हालातों से,

पीछे पीछे मैं तू चले आगे,
हरदम संग संग राहो में,
चले तू ले हाथों को हाथों में,
तेरे हाथों में,
हालात हो जैसे भी,
सताए नहीं है,
तेरी मोरछडी बाबा,
लहराई तभी है,
मेरा तो श्याम,
सहारा तू ही है,
मेरा तो श्याम,
गुजारा तू ही है।।



तेरा मेरा सांवरे ये संगम है,

मेरा साथी है तू मेरा हमदम है,
प्यार ये हमारा कभी कम ना हो,
तेरे बिना कोई भी जनम ना हो,
जनम ना हो,
जब गम मेरी राहों में,
आ जाए कोई है,
तेरी मोरछडी बाबा,
लहराई तभी है,
मेरा तो श्याम,
सहारा तू ही है,
मेरा तो श्याम,
गुजारा तू ही है।।



तेरी ही चमक मेरी आँखों में,

तेरा ही जिकर मेरी बातों में,
दिल में है तू बसा साँसों में,
मन के मेरे अहसासों में,
अहसासों में,
‘गोलू’ बिन श्याम कोई,
रास आए नहीं है,
तेरी मोरछडी बाबा,
लहराई तभी है,
मेरा तो श्याम,
सहारा तू ही है,
मेरा तो श्याम,
गुजारा तू ही है।।



जब भी विपदा आगे,

मेरे आई कभी है,
तेरी मोरछड़ी बाबा,
लहराई तभी है,
मेरा तो श्याम,
सहारा तू ही है,
मेरा तो श्याम,
गुजारा तू ही है।।

Singer – Mamta Bihani


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें