तेरी मोर छड़ी का झाड़ा लग जाए सांवरे भजन लिरिक्स

तेरी मोर छड़ी का झाड़ा,
लग जाए सांवरे,
दुःख जिंदगी के सारे,
मिट जाए सांवरे,
तेरी मोर छड़ी का झाड़ा।।

तर्ज – आ जाओ भोले बाबा।



जो श्याम शरण में जाता,

भर देता झोली है,
भर देता झोली है,
इस मोर छड़ी ने कितनों,
की किस्मत खोली है,
बाबा किस्मत खोली है,
अपनी किस्मत के ताले,
खुलवा ले बावरे,
दुःख जिंदगी के सारे,
मिट जाए सांवरे,
तेरी मोर छड़ी का झाड़ा।।



गुणगान श्याम का करले,

किस्मत खुल जाएगी,
किस्मत खुल जाएगी,
जो कमी तेरे जीवन में,
पूरी हो जाएगी,
पूरी हो जाएगी,
तू प्रेम श्याम से कर ले,
ना लगता दाम रे,
दुःख जिंदगी के सारे,
मिट जाए सांवरे,
तेरी मोर छड़ी का झाड़ा।।



जब ‘श्याम बहादुर’ तेरे,

दर्शन को आ गए,
दर्शन को आ गए,
तब मोर छड़ी से ताले,
तूने खुलवा दिए,
तूने खुलवा दिए,
तू मोर छड़ी से ताले,
खुलवाता सांवरे,
दुःख जिंदगी के सारे,
मिट जाए सांवरे,
तेरी मोर छड़ी का झाड़ा।।



‘तन्नू’ संकट हर लेती,

बाबा की मोर छड़ी,
बाबा की मोर छड़ी,
इसके आगे झुक जाती,
सब शक्ति बड़ी बड़ी,
सब शक्ति बड़ी बड़ी,
‘माही’ पर शाम करो ना,
कृपा की छांव रे,
दुःख जिंदगी के सारे,
मिट जाए सांवरे,
तेरी मोर छड़ी का झाड़ा।।



तेरी मोर छड़ी का झाड़ा,

लग जाए सांवरे,
दुःख जिंदगी के सारे,
मिट जाए सांवरे,
तेरी मोर छड़ी का झाड़ा।।

Singer – Tanu Tanvir Nizami


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें