तेरी गोद में सोना है दिल की मेरे अर्ज़ी है भजन लिरिक्स

तेरी गोद में सोना है,
दिल की मेरे अर्ज़ी है,
मां बाप है तू मेरा,
आगे तेरी मर्ज़ी है,
तेरी गोद मे सोना है,
दिल की मेरे अर्ज़ी है।।

तर्ज़ – एक प्यार का नगमा है।



ख्वाबो में मुझको श्याम,

दर्शन तेरा मिल जाये,
पाकर तेरा प्यार हे श्याम,
मेरा तन मन खिल जाए,
तूफान बन ये इच्छा,
मेरे दिल मे गरजी है,
मां बाप है तू मेरा,
आगे तेरी मर्ज़ी है,
तेरी गोद मे सोना है,
दिल की मेरे अर्ज़ी है।।



तेरे प्यार के आँचल में,

जी भरकर झुमुंगा,
तेरा सिर पर हाथ मेरे,
दुनिया से कह दूंगा,
प्रेमी पर दया तेरी,
दिल खोल के बरसी है,
मां बाप है तू मेरा,
आगे तेरी मर्ज़ी है,
तेरी गोद मे सोना है,
दिल की मेरे अर्ज़ी है।।



नाचूँ बन मोर तेरा,

ख्वाबो में साथ तेरे,
‘शेखावत’ का थाम लो,
हाथो में हाथ तेरे,
दिल की हर अर्ज़ी श्याम,
तू पूरी करसी है,
मां बाप है तू मेरा,
आगे तेरी मर्ज़ी है,
तेरी गोद मे सोना है,
दिल की मेरे अर्ज़ी है।।



तेरी गोद में सोना है,

दिल की मेरे अर्ज़ी है,
मां बाप है तू मेरा,
आगे तेरी मर्ज़ी है,
तेरी गोद मे सोना है,
दिल की मेरे अर्ज़ी है।।

गायक / प्रेषक – हिमांशु सिंह शेखावत।
7082553226


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें