तेरे कीर्तन जहाँ होंगे तेरे प्रेमी वहां होंगे भजन लिरिक्स

तेरे कीर्तन जहाँ होंगे तेरे प्रेमी वहां होंगे भजन लिरिक्स

तेरे कीर्तन जहाँ होंगे,
तेरे प्रेमी वहां होंगे,
तेरे नाम डंका श्याम हम,
दुनिया में बजा देंगे,
तुझे अपना बना लेंगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे।।

तर्ज – जब हम जवा होगे।



हर ग्यारस पे प्रेमी खाटू आते है,

तेरे कीर्तन सुनते और कराते है,
हर प्रेमी से मिलकर,
हम तेरी बात करेंगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे,
तेरे नाम डंका श्याम हम,
दुनिया में बजा देंगे,
तुझे अपना बना लेंगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे।।



हारे का सहारा है ये साथी श्याम मेरा,

हार के जो भी आता,
उसका बन जाता,
तेरी कृपा और महिमा का,
गुण गाण करेगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे,
तेरे नाम डंका श्याम हम,
दुनिया में बजा देंगे,
तुझे अपना बना लेंगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे।।



जब से श्याम से,

‘ममता’ नाता जोड़ा है,
हर छुटे बंधन से,
रिश्ता जोड़ा है,
तेरे नाम से जीते है,
और तेरे नाम से जीतेगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे,
तेरे नाम डंका श्याम हम,
दुनिया में बजा देंगे,
तुझे अपना बना लेंगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे।।



तेरे कीर्तन जहाँ होंगे,

तेरे प्रेमी वहां होंगे,
तेरे नाम डंका श्याम हम,
दुनिया में बजा देंगे,
तुझे अपना बना लेंगे,
तेरे कीर्तन जहाँ होगे,
तेरे प्रेमी वहां होगे।।

Singer : Mamta Sharma


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें