प्रथम पेज कृष्ण भजन सोणा वेख के नजारा वृन्दावन दा भजन लिरिक्स

सोणा वेख के नजारा वृन्दावन दा भजन लिरिक्स

सोणा वेख के नजारा वृन्दावन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा,
मेनू भुल्ल गया दुख तन मन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।।



सांवरा सलोना मेरा,

वृन्दावन वसदा,
मिट्ठा मिट्ठा बोल्दा ते,
मिट्ठा मिट्ठा हंसदा,
जादू चल गया ओहदे नैनन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।
सोंणा वेख के नजारा वृन्दावन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।।



चन्न जया मुखड़ा ते,

नैन काले काले ने,
बुल्ल ने रसीले ओहदे,
बाल घुंघराले ने,
ढंग जग तों नियारा ए चलण दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।
सोंणा वेख के नजारा वृन्दावन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।।



तन ते पीताम्बर,

गल बैजंती माला ए,
मोर मुकुट सोणे,
सीस ते निराला ए,
नईं जवाब ओदी पैरां दी पैंजन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।
सोंणा वेख के नजारा वृन्दावन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।।



कन्ना विच गूंजे ओदी,

मुरली दी तान वे,
तिरलोकी दास मेनू,
ओदा ही धेयान वे,
अक्खां तकदियाँ ख्वाब मिलण दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।
सोंणा वेख के नजारा वृन्दावन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।।



सोणा वेख के नजारा वृन्दावन दा,

किते वी मेरा दिल नई लगदा,
मेनू भुल्ल गया दुख तन मन दा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा,
किते वी मेरा दिल नई लगदा।।

Singer – Triloki Nath Das Ji


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।