प्रथम पेज कृष्ण भजन श्याम सम्भालो मुझको और पकड़ो मेरा हाथ भजन लिरिक्स

श्याम सम्भालो मुझको और पकड़ो मेरा हाथ भजन लिरिक्स

श्याम सम्भालो मुझको,
और पकड़ो मेरा हाथ,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ।।

तर्ज – सावन का महीना।



करूणानिधि जरा,

करुणा दिखाओ,
गिरते हुए को बाबा,
और ना गिराओ,
भूल गए क्या बाबा,
तुम ही हो दीनानाथ,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ,
श्याम संभालो मुझको,
और पकड़ो मेरा हाथ,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ।।



किस्मत का लेख कहकर,

करो ना बहाना,
तुमने लिखी है किस्मत,
तुम ही बताना,
शरण तुम्हारी लिख दो,
लेकर के कलम दवात,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ,
श्याम संभालो मुझको,
और पकड़ो मेरा हाथ,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ।।



आज से पहले बाबा,

दर दर मैं भटका,
जान लिया है केशव,
कोई ना किस का,
झूठे है ये रिश्ते,
मैं जान गया ये बात,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ,
श्याम संभालो मुझको,
और पकड़ो मेरा हाथ,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ।।



श्याम सम्भालो मुझको,

और पकड़ो मेरा हाथ,
एक तू ही नजर में मेरी,
जो देगा मेरा साथ।।

Singer / Lyrics – Harish Kumar Sharma


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।