श्याम रंगीला श्याम घोड़ा है नीला भजन लिरिक्स

श्याम रंगीला,
श्याम घोड़ा है नीला,
घोड़े पे है,
बाबा की सवारियां,
श्याम रँगीला,
श्याम घोड़ा है नीला।।

तर्ज – गोरी है कलाइयां।



मोर मुकुट माथे,

तिलक विराजे,
गल बैजंती माला साजे,
नैन कजरारे,
बाल है घूंघर वाले,
यही तो है बाबा की निशानियां,
श्याम रँगीला,
श्याम घोड़ा है नीला।।



सांवली सूरत पे,

वारि वारि जाऊं,
श्याम बाबा का मैं,
ध्यान लगाऊं,
श्याम सरकार है,
बाबा बड़ा दिलदार है,
मशहूर बाबा की कहानियां,
श्याम रँगीला,
श्याम घोड़ा है नीला।।



‘बनवारी’ बाबा को,

जो भी बुलाएगा,
लीले पे चढ़ के बाबा,
दौड़ा दौड़ा आएगा,
जो भी मनाएगा,
और ध्यान लगाएगा,
बाबा करेगा मेहरबानियां,
श्याम रँगीला,
श्याम घोड़ा है नीला।।



श्याम रंगीला,

श्याम घोड़ा है नीला,
घोड़े पे है,
बाबा की सवारियां,
श्याम रँगीला,
श्याम घोड़ा है नीला।।

Singer – Sourabh Sharma


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें