श्याम मेरी पकड़ो कलाई भजन लिरिक्स

श्याम मेरी पकड़ो कलाई,

मैंने ये अर्जी मेरे श्याम लगाई,
मेरी पकड़ो कलाई,
ओ खाटू वाले, हारे के सहारे,
मेरी पकड़ो कलाई,
पकड़ो कलाई,
ठोकर मैंने बहुत खाई कन्हाई,
मेरी पकड़ो कलाई,
ओ खाटू वाले, हारे के सहारे,
मेरी पकड़ो कलाई,
पकड़ो कलाई।।

तर्ज – लम्बी जुदाई।



देता रहूं मैं कबतक परीक्षा,

पूरी करो ना मेरे सांवर इक्छा,
प्रीत की रीत,
प्रीत की रीत मैंने तुझसे है निभाई,
मेरी पकड़ो कलाई,
ओ खाटू वाले, हारे के सहारे,
मेरी पकड़ो कलाई,
पकड़ो कलाई।।



दुःख की जो आई घड़ी हुए सब पराए,

अपना कोई मुझे नजर ना आए,
रिश्तेदारियां,
रिश्तेदारियां मैंने सबसे है निभाई,
मेरी पकड़ो कलाई,
ओ खाटू वाले, हारे के सहारे,
मेरी पकड़ो कलाई,
पकड़ो कलाई।।



कर दो कृपा मेरे सांवरे मुझ पर,

हाथ का दया का रख दो मेरे सर पर,
‘कुंदन’ की सुनलो,
‘कुंदन’ की सुनलो ये दुहाई कन्हाई,
मेरी पकड़ो कलाई,
ओ खाटू वाले, हारे के सहारे,
मेरी पकड़ो कलाई,
पकड़ो कलाई।।



मैंने ये अर्जी मेरे श्याम लगाई,

मेरी पकड़ो कलाई,
ओ खाटू वाले, हारे के सहारे,
मेरी पकड़ो कलाई,
पकड़ो कलाई,
ठोकर मैंने बहुत खाई कन्हाई,
मेरी पकड़ो कलाई,
ओ खाटू वाले, हारे के सहारे,
श्याम मेरी पकड़ो कलाई,
पकड़ो कलाई।।

Singer – Bajrang Bagri


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें