श्याम की किरपा जिसपे हो जाए भजन लिरिक्स

श्याम की किरपा जिसपे हो जाए,
काल भी उसका क्या कर पाए।।
shyam ki kripa jispe ho jaye lyrics

तर्ज – और इस दिल में।



हाथों में हाथ लेके,

सांवरा साथ चलता,
चाहे जिसतना बड़ा हो,
वो संकट पल में टलता,
श्याम के रहते क्यों घबराता,
श्याम है तेरे साथ प्यारे,
श्याम है तेरे साथ,
श्याम सहारा जिसे मिल जाए,
काल भी उसका क्या कर पाए।।



चाहे तूफां हो आगे,

आंधी घनघोर खड़ी हो,
चाहे बिजली गिर जाए,
मुसीबत कितनी बड़ी हो,
श्याम दया का सागर प्यारे,
हो जाएगा पार भव से,
हो जाएगा पार,
श्याम के दिल में जो बस जाए,
काल भी उसका क्या कर पाए।।



वादा ये श्याम का है,

साथ छोड़ेगा कभी ना,
घूम ली सारी दुनिया,
श्याम सा कोई कहीं ना,
हर हालातों में देता,
अपने प्रेमी का साथ,
अपने प्रेमी का साथ,
‘आरती शर्मा’ गुण तेरे गाये,
काल भी उसका क्या कर पाए।।



श्याम की किरपा जिसपे हो जाए,

काल भी उसका क्या कर पाए।।

Singer & Writer – Aarti Sharma


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें