श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त लख्खा जी भजन लिरिक्स

श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।।

तर्ज – तू चीज बड़ी है


श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त,
लो ध्वजा हाथ में थाम थाम,
जाना है खाटु धाम धाम,
श्री श्याम का जपते नाम नाम,
जयकार करो हर भक्त भक्त।

श्री श्याम है जिनका नाम नाम,
आते है सबके काम काम,
उनके चरणों को थाम थाम,
वो कष्ट हरेंगे सख्त सख्त,
श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।।

चर्चा है इनकी गली गली गली,
चर्चा है इनकी,
चर्चा है इनकी ये बिगड़ी बनाते है,
प्रेम से बुलाओ श्याम दौड़े आते है,
श्याम श्याम श्याम, श्याम श्याम,
श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।।


खाटु वाले है ऐसे दानी,
जपते जिनको जग के प्राणी,
जो करते उनका ध्यान ध्यान,
वो पाते इज्जत मान मान,
मुँह माँगा देते दान दान,
धन दौलत का जो तख़्त तख़्त,
श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।

चर्चा है इनकी गली गली गली,
चर्चा है इनकी,
चर्चा है इनकी ये बिगड़ी बनाते है,
प्रेम से बुलाओ श्याम दौड़े आते है,
श्याम श्याम श्याम, श्याम श्याम,
श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।।


श्याम के दर से कोई सवाली,
‘शर्मा’ लौटा कभी ना खाली,
तू चल श्री श्याम के द्वार द्वार,
पायेगा उनसे प्यार प्यार,
ये जनम मिले ना बार बार,
तू व्यर्थ गवा ना वक़्त वक़्त,
श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।

चर्चा है इनकी गली गली गली,
चर्चा है इनकी,
चर्चा है इनकी ये बिगड़ी बनाते है,
प्रेम से बुलाओ श्याम दौड़े आते है,
श्याम श्याम श्याम, श्याम श्याम,
श्री-श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।।


गणिका तारे अजामिल तारा,
जो प्रह्लाद का बना सहारा,
जो जपता है श्री श्याम श्याम,
उसके बन जाये काम काम,
जग में है प्यारा नाम नाम,
‘लख्खा’ को प्यारा लगत लगत,
श्री-श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।

चर्चा है इनकी गली गली गली,
चर्चा है इनकी,
चर्चा है इनकी ये बिगड़ी बनाते है,
प्रेम से बुलाओ श्याम दौड़े आते है,
श्याम श्याम श्याम, श्याम श्याम,
श्री श्याम जपो हर वक़्त वक़्त,
घनश्याम जपो हर वक़्त।।


https://youtu.be/Cp1FkyScdJ8

इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

खाक से उठाया आपने मेरे सांवरे भजन लिरिक्स

खाक से उठाया आपने मेरे सांवरे भजन लिरिक्स

खाक से उठाया आपने, मेरे सांवरे, अपना बनाया आपने, मेरे सांवरे, खाक से उठाया आपनें, मेरे सांवरे।bd। तर्ज – जिए तो जिए कैसे। सोचता हूँ श्याम बिना, जिंदगी ये क्या…

आ लौट के आजा मेरे श्याम तुझे ब्रजवाम बुलाती है लिरिक्स

आ लौट के आजा मेरे श्याम तुझे ब्रजवाम बुलाती है लिरिक्स

आ लौट के आजा मेरे श्याम, तुझे ब्रजवाम बुलाती है, तेरा सूना पड़ा रे ब्रजधाम, तेरा सूना पड़ा रे ब्रजधाम, तुझे ब्रजवाम बुलाती है, आ लौट के आजा मेरें श्याम,…

रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन लिरिक्स

रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन लिरिक्स

रोये जो श्याम का प्रेमी, उसे श्याम ही धीर बँधाए, जिसे सांवरिया ही रुलाए, उसे कौन कौन हंसाए, उसे कौन कौन हंसाए।। तर्ज – चिंगारी कोई भड़के। दौलत शोहरत मत…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे