श्री गणपति महाराज मंगल बरसाओ भजन लिरिक्स

श्री गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ,
शिव जी के प्यारे,
मैया गौरा के दुलारे,
देवों के सरताज,
मंगल बरसाओ,
श्रीं गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ।।



प्रथम गजानंद तुमको मनाऊँ,

विनती करूँ कर जोड़ के बुलाऊँ,
सफल करो सब काज,
मंगल बरसाओ,
श्रीं गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ।।



रिद्धि और सिद्धि दोनों साथ में लाना,

शुभ और लाभ को भूल ना जाना,
मूषक पर चढ़ आज,
मंगल बरसाओ,
श्रीं गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ।।



पुष्पों के हार देवा तुम्हे पहनाऊं,

लाडू और मोदक से भोग लगाऊं,
धुप दिप धरूँ साज,
मंगल बरसाओ,
श्रीं गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ।।



भक्त तुम्हारे मिल महिमा गाते,

मधुर मधुर देवा भजन सुनाते,
ढोल मृदंग रहे बाज,
मंगल बरसाओ,
श्रीं गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ।।



‘अमर’ तुम्हारे है चरणों का चाकर,

दरश प्रभु दिखला दो आकर,
रख लो हमारी लाज,
मंगल बरसाओ,
श्रीं गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ।।



श्री गणपति महाराज,

मंगल बरसाओ,
शिव जी के प्यारे,
मैया गौरा के दुलारे,
देवों के सरताज,
मंगल बरसाओ,
श्रीं गणपति महाराज,
मंगल बरसाओ।।

Singer – Rakesh Kala


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें