श्री डिग्गी वाले बाबा देव निराले तेरी महिमा अपरम्पार है

श्री डिग्गी वाले बाबा देव निराले तेरी महिमा अपरम्पार है

श्री डिग्गी वाले बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है,
रामधुन गाए सिंदूर सजाये,
चहूं ओर तेरी जय जयकार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।



भुजा गदा विराजे,

ध्वजा कर मे साजे,
गल तेरे मोतियन हार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।



बाबा रोग मिटाये,

बाबा कष्ट भगाये,
बाबा सबका संकटहार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।



नित भोग लगाये,

सियाराम धुन गाये,
दर भक्तो की लम्बी कतार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।



भक्त शीश झुकाये और,

सर्व सुख पाये,
बाबा सबका पालनहार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।



राधे आरती उतारे,

तेरा नाम उचारे,
कहे सबका बेड़ा पार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।



सुंदरकांड सुनाये,

सब तुझको रिझाये,
मित्र मंडल भी बलिहार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।



श्री डिग्गी वाले बाबा देव निराले,

तेरी महिमा अपरम्पार है,
रामधुन गाए सिंदूर सजाये,
चहूं ओर तेरी जय जयकार है,
श्री डिग्गी वालें बाबा देव निराले,
तेरी महिमा अपरम्पार है।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें