शिव पंचाक्षर स्तोत्र नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय लिरिक्स

शिव पंचाक्षर स्तोत्र,

नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय,
भस्माङ्गरागाय महेश्वराय,
नित्याय शुद्धाय दिगम्बराय,
तस्मै नकाराय नम: शिवाय।।



मन्दाकिनीसलिलचन्दनचर्चिताय,

नन्दीश्वरप्रमथनाथमहेश्वराय,
मन्दारपुष्पबहुपुष्पसुपूजिताय,
तस्मै मकाराय नम: शिवाय।।



शिवाय गौरीवदनाब्जवृन्द,

सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय,
श्रीनीलकण्ठाय वृषध्वजाय,
तस्मै शिकाराय नम: शिवाय।।



वसिष्ठकुम्भोद्भवगौतमार्य,

मुनीन्द्रदेवार्चितशेखराय,
चन्द्रार्कवैश्वानरलोचनाय,
तस्मै वकाराय नम: शिवाय।।



यक्षस्वरूपाय जटाधराय,

पिनाकहस्ताय सनातनाय,
दिव्याय देवाय दिगम्बराय,
तस्मै यकाराय नम: शिवाय।।



पञ्चाक्षरमिदं पुण्यं य: पठेच्छिवसन्निधौ,

शिवलोकमवाप्नोति शिवेन सह मोदते।।

Singer – Sooryagayathri
Upload By – Aruna Rathi


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें