शनि जयंती आ गई रे झूमो नाचो रे गाओ लिरिक्स

शनि जयंती आ गई रे,
झूमो नाचो रे गाओ,
दुनिया में खुशियाँ छा गई रे,
झूमो नाचो रे गाओ,
शनि जयंती आ गईं रे,
झूमो नाचो रे गाओ।।

तर्ज – भक्तो को दर्शन दे गयी रे।



शनि देव की जन्म जयंती,

हर घर हर आँगन में मनती,
भक्तों के मन को लुभा गई रे,
झूमो नाचो रे गाओ,
शनि जयंती आ गईं रे,
झूमो नाचो रे गाओ।।



सूर्य देव के पुत्र कहाए,

छायावीनंदन शनि हमारे,
सबके दुखड़े मिटा गई रे,
झूमो नाचो रे गाओ,
शनि जयंती आ गईं रे,
झूमो नाचो रे गाओ।।



शनिदेव को खूब सजायें,

रूप सलोना निरखे ही जाएं,
दर्शन की घड़ियाँ आ गई रे,
झूमो नाचो रे गाओ,
शनि जयंती आ गईं रे,
झूमो नाचो रे गाओ।।



नवग्रहों में श्रेष्ठ कहाए,

कलयुग में घर घर में पूजाए,
कहता ‘मनीष’ छवि भा गई रे,
झूमो नाचो रे गाओ,
शनि जयंती आ गईं रे,
झूमो नाचो रे गाओ।।



शनि जयंती आ गई रे,

झूमो नाचो रे गाओ,
दुनिया में खुशियाँ छा गई रे,
झूमो नाचो रे गाओ,
शनि जयंती आ गईं रे,
झूमो नाचो रे गाओ।।

स्वर – मनीष तिवारी जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें