सरकारों में सबसे बड़े श्याम देखि तेरी सरकारी है भजन लिरिक्स

सरकारों में सबसे बड़े श्याम,
देखि तेरी सरकारी है,
हारे को सहारो एक तू,
हारे को सहारो एक तू,
जाने दुनिया सारी है,
सरकारो में सबसे बड़े श्याम,
देखि तेरी सरकारी है।।

तर्ज – रो रो कर फरियाद करा हाँ।



मिलवा की म्हाने मन में आवे,

क्यों ना दरश दिखावे तू,
सगळा की थे विनती सुनली,
क्यों म्हाने अटकावै तू,
हार के जग से आयो बाबा,
हार के जग से आयो बाबा,
खाली हाथ लौटावे क्यों,
सरकारो में सबसे बड़े श्याम,
देखि तेरी सरकारी है।।



छोड़ के सारी दुनियादारी,

थारी शरण में आयो हूँ,
छोड़ कहाँ जाऊं तेरा द्वारा,
तेरी सेवा को आया हूँ,
सांसो की माला में तेरे,
सांसो की माला में तेरे,
नाम के मोती पिरोता हूँ,
सरकारो में सबसे बड़े श्याम,
देखि तेरी सरकारी है।।



न्यायधीश थे न्याय करोगा,

यो म्हारो भरोसो है,
म्हारो जीवन नैया ने,
पार करोगा आसरो है,
‘कुणाल’ यो जाने थारे मन के,
‘कुणाल’ यो जाने थारे मन के,
कोने में वो रेहवे है,
सरकारो में सबसे बड़े श्याम,
देखि तेरी सरकारी है।।



सरकारों में सबसे बड़े श्याम,

देखि तेरी सरकारी है,
हारे को सहारो एक तू,
हारे को सहारो एक तू,
जाने दुनिया सारी है,
सरकारो में सबसे बड़े श्याम,
देखि तेरी सरकारी है।।

Singer – Kunal Bathwal


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें