संत विया बड़भागी ज्यारी महिमा जग में भारी

संत विया बड़भागी,
ज्यारी महिमा जग में भारी,
अरे संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी
अरे माता मगरी बाई,
तेजारामजी पिता केवाई,
अरे माता मगरी बाई,
तेजारामजी पिता केवाई,
अरे संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी।।



गाँव खोड मे जन्म पायो,

अरे जाणवा समाज में आयो,
अरे गाँव खोड मे जन्म पायो,
अरे जाणवा समाज में आयो,
महिमा जग में भारी,
संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी,
संत विया बडभागी।।



प्रभुदास जी गुरु बनाई,

प्रभुदासजी गुरु बनाई,
अरे कानो मे फूंक लगाई,
प्रभुदासजी गुरु बनाई,
कानो में फूंक लगाई,
अरे संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी,
संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी।।



जद करूणादास केवाई,

जद करूणादास केवाई,
जोने दुनिया सारी,
जद करूणादास केवाई,
जोने दुनिया सारी,
संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी,
संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी।।



हैदराबाद में शिक्षा लिनी,

हैदराबाद में शिक्षा लिनी,
वेतो वटे गुरू बनाई,
हैदराबाद में शिक्षा लिनी,
वेतो वटे गुरू बनाई,
संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी,
संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी।।



अरे वे गुरूमूखी ग्यान सुनाई,

अरे वे गुरूमूखी ग्यान सुनाई,
ज्योरा चेला नर ने नारी,
गुरूमूखी ग्यान सुनाई,
ज्योरा चेला नर ने नारी,
अरे शंकर भजन बनाई,
अरे शंकर भजन बनाई,
अरे भरी सभा में गाई,
अरे भगत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी,
संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी।।



संत विया बड़भागी,

ज्यारी महिमा जग में भारी,
अरे संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी
अरे माता मगरी बाई,
तेजारामजी पिता केवाई,
अरे माता मगरी बाई,
तेजारामजी पिता केवाई,
अरे संत विया बडभागी,
ज्यारी महिमा जग में न्यारी।।

गायक – शंकर जी टाक।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें