राम जी के चरणों में बैठे हनुमान भजन लिरिक्स

राम जी के चरणों में बैठे हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान।।

चौपाई – कवन सो काज कठिन जग माहीं,
जो नहिं होइ तात तुम्ह पाहीं।



राम जी के चरणों में बैठे हनुमान,

राम राम राम जपे वीर हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान।।



सीता को मात कहे लक्ष्मण को भ्रात कहे,

सीता को मात कहे लक्ष्मण को भ्रात कहे,
वानरों की सेना के नायक हनुमान,
वानरों की सेना के नायक हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान।।



सीता की खोज करे रावण को धोंस धरे,

सीता की खोज करे रावण को धोंस धरे,
लंका में आग लगा आए हनुमान,
लंका में आग लगा आए हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान।।



राम जी को नमन करे सीता की खबर कहे,

राम जी को नमन करे सीता की खबर कहे,
ओ राम जी के प्यारे बने हनुमान,
राम जी के प्यारे बने हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान।।



संकट को दूर करे दुखियों के दुःख हरे,

संकट को दूर करे दुखियों के दुःख हरे,
ओ बल बुद्धि विद्या भी देते हनुमान,
ओ बल बुद्धि विद्या भी देते हनुमान,
Bhajan Diary Lyrics,
राम राम राम जपे वीर हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान।।



राम जी के चरणो में बैठे हनुमान,

राम राम राम जपे वीर हनुमान,
राम राम राम जपे वीर हनुमान।।

गायक – मनीष तिवारी इंदौर।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें