प्रथम पेज हनुमान भजन जीमो जीमो जी हटिला हनुमान जिमावा थाने सवामणी लिरिक्स

जीमो जीमो जी हटिला हनुमान जिमावा थाने सवामणी लिरिक्स

जीमो जीमो जी हटिला हनुमान,
जिमावा थाने सवामणी,
राखो राखो जी बालाजी म्हारो मान,
जिमावा थाने सवामणी,
जीमो जीमो जी हटिला हनूमान,
जिमावा थाने सवामणी।।



सवामणी को खीर चूरमो,

केसर गैर बणायो,
खीर में गैरा दाख छुहारा,
मन में हैत समायो,
जीमो जीमो जी केसरिया हनुमान,
जिमावा थाने सवामणी,
जीमो जीमो जी हटिला हनूमान,
जिमावा थाने सवामणी।।



जंगल जंगल घूम घूम कर,

ताजा फल मंगवाया,
केला चीकू और संतरा,
मैं सेवा में ल्याया,
जीमो जीमो जी फलदायक हनुमान,
जिमावा थाने सवामणी,
जीमो जीमो जी हटिला हनूमान,
जिमावा थाने सवामणी।।



थे जीमो थारी झूटन से,

म्हाने मिले प्रसाद,
थारी झूटन में है स्वामी,
संजीवन को स्वाद,
जीमो जीमो जी जीवनदायक हनुमान,
जिमावा थाने सवामणी,
जीमो जीमो जी हटिला हनूमान,
जिमावा थाने सवामणी।।



हुकुम करो म्हारा सेठ धणी,

थाने कीकर भोग लगावा,
सीता माँ की तुलसी देकर,
थाने तृप्त करावा,
राखो राखो जी म्हारी तुलसी रो सम्मान,
जिमावा थाने सवामणी,
जीमो जीमो जी हटिला हनूमान,
जिमावा थाने सवामणी।।



जीमो जीमो जी हटिला हनुमान,

जिमावा थाने सवामणी,
राखो राखो जी बालाजी म्हारो मान,
जिमावा थाने सवामणी,
जीमो जीमो जी हटिला हनूमान,
जिमावा थाने सवामणी।।

Singer : Manish Tiwari


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।