राधा रमण हरी नंदना करूँ हर पहर तेरी वंदना भजन लिरिक्स

राधा रमण हरी नंदना,
राधा रमण हरी नँदना,
करूँ हर पहर तेरी वंदना,
मनमोहना मनमोहना,
मनमोहना मनमोहना।।

तर्ज – किस राह में किस मोड़।



जब तक ना तेरा साथ था,

जब तक ना तेरा साथ था,
जीवन अँधेरी रात था,
मिलती गई मुझे रौशनी,
करता गया तेरी प्रार्थना,
मनमोहना मनमोहना,
मनमोहना मनमोहना।।



मेरी सुबह प्रभु दर्शन से है,

मेरी सुबह प्रभु दर्शन से है,
हर शाम तेरे भजन से है,
हर शाम तेरे भजन से है,
मेरे रोम रोम में सांवरा,
हर सांस में तेरी अर्चना,
मनमोहना मनमोहना,
मनमोहना मनमोहना।।



जब जब लिया तेरा नाम है,

जब जब लिया तेरा नाम है,
बनता गया मेरा काम है,
बनता गया मेरा काम है,
‘अंकुश’ पे करना कृपा प्रभु,
करता रहे आराधना,
मनमोहना मनमोहना,
मनमोहना मनमोहना।।



राधा रमण हरी नंदना,

राधा रमण हरी नँदना,
करूँ हर पहर तेरी वंदना,
मनमोहना मनमोहना,
मनमोहना मनमोहना।।

Singer & Lyricist – Ajay Nathani


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें