पकड़ लो हाथ बनवारी नहीं तो डूब जाएंगे भजन लिरिक्स

पकड़ लो हाथ बनवारी नहीं तो डूब जाएंगे भजन लिरिक्स

पकड़ लो हाथ बनवारी,
नहीं तो डूब जाएंगे,
हमारा कुछ ना बिगड़ेगा,
तुम्हारी लाज जाएगी,
पकड़ लों हाथ बनवारी,
नहीं तो डूब जाएंगे।।

तर्ज – ना झटको जुल्फ से पानी।



धरी है पाप की गठरी,

हमारे सर पे ये भारी,
वजन पापो का है भारी,
इसे कैसे उठाऐंगे,
पकड़ लों हाथ बनवारी,
नहीं तो डूब जाएंगे।।



तुम्हारे ही भरोसे पर,

जमाना छोड़ बैठे है,
जमाने की तरफ देखो,
इसे कैसे निभाएंगे,
पकड़ लों हाथ बनवारी,
नहीं तो डूब जाएंगे।।



दर्दे दिल की कहे किससे,

सहारा ना कोई देगा,
सुनोगे आप ही मोहन,
और किसको सुनाऐंगे,
पकड़ लों हाथ बनवारी,
नहीं तो डूब जाएंगे।।



फसी है भवँर में नैया,

प्रभु अब डूब जाएगी,
खिवैया आप बन जाओ,
तो बेड़ा पार हो जाये,
पकड़ लों हाथ बनवारी,
नहीं तो डूब जाएंगे।।



पकड़ लो हाथ बनवारी,

नहीं तो डूब जाएंगे,
हमारा कुछ ना बिगड़ेगा,
तुम्हारी लाज जाएगी,
पकड़ लों हाथ बनवारी,
नहीं तो डूब जाएंगे।।

स्वर – जया किशोरी जी।
प्रेषक – शिव कुमार माथुर
9829830430


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें