ॐ जय शिव जय महाकाल आरती लिरिक्स

ॐ जय शिव जय महाकाल,
स्वामी जय शम्भू महाकाल,
ज्योतिर्लिंग स्वरूपा,
ज्योतिर्लिंग स्वरूपा,
तुम कालो के काल,
ओम जय शिव जय महाकाल।।

तर्ज – ॐ जय शिव ओमकारा।



बारह ज्योतिर्लिंग में,

महिमा बड़ो है नाम,
क्षिप्रा तट उज्जैन में,
महाकाल को धाम,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



तुम भीमेश्वर देवा,

तुम काशी विश्वनाथ,
गोमती तट त्रयंभकेश्वर,
दारूकवन नागनाथ,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



हाथ जोड़ तेरे द्वारे,

काल खड़ा लाचार,
सुर नर असुर चराचर,
सब के हो करतार,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



चिता भस्म से तेरो,

नित नित हो श्रृंगार,
भक्तन का मन मोहे,
तेरो रूप निहार,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



भस्म आरती तेरी,

अद्भुत है भगवन,
भाग्यवान नर नारी,
पाएं शुभ दर्शन,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



साथ में गणपति गौरा,

कार्तिक है देवा,
द्वार खड़े है नंदी,
नित उठ करे सेवा,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



जो जन तेरा दर्शन,

श्रद्धा से कर जाए,
मौत अकाल ना आए,
सुख वैभव पा जाए,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



महाकाल की आरती,

जो नर नारी गाए,
कहत ‘महेश’ प्रभु से,
मन इच्छा फल पाए,
Bhajan Diary Lyrics,
ओम जय शिव जय महाकाल।।



ॐ जय शिव जय महाकाल,

स्वामी जय शम्भू महाकाल,
ज्योतिर्लिंग स्वरूपा,
ज्योतिर्लिंग स्वरूपा,
तुम कालो के काल,
ओम जय शिव जय महाकाल।।

गायक – मनीष तिवारी इंदौर।


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

अम्बे मैया जी की आरती हिंदी लिरिक्स

अम्बे मैया जी की आरती

अम्बे मैया जी की आरती, जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी, निशिदिन तुमको ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवजी॥ जय अम्बे माँग सिन्दूर विराजत, टीको, मृगमद को। उज्जवल से दोउ नयना,…

सुन मेरी देवी पर्वत वासिनी तेरा मैंने पार ना पाया आरती लिरिक्स

सुन मेरी देवी पर्वत वासिनी तेरा मैंने पार ना पाया आरती लिरिक्स

सुन मेरी देवी पर्वत वासिनी, तेरा मैंने पार ना पाया, सुन मेरी देवी पर्वतवासनी, तेरा मैंने पार ना पाया।। पान सुपारी ध्वजा नारियल, ले अम्बे तेरी भेंट चढ़ाया, सुन मेरी…

नंदरानी कन्हयो जबर भयो रे मेरी मटकी उलट के पलट गयो रे

नंदरानी कन्हयो जबर भयो रे मेरी मटकी उलट के पलट गयो रे

नंदरानी कन्हयो जबर भयो रे, मेरी मटकी उलट के पलट गयो रे।। पनघट पे आके करे जोरा जोरि, चुपके से आये करे चिर चोरी, मैया हल्लो मच्यो तो सटक गयो…

कान्हा रे कान्हा रे ओ प्यारे कान्हा करले अर्ज मेरी मंजूर लिरिक्स

कान्हा रे कान्हा रे ओ प्यारे कान्हा करले अर्ज मेरी मंजूर भजन लिरिक्स

कान्हा रे कान्हा रे ओ प्यारे कान्हा, श्लोक – सजधज कर बैठ्यो सांवरियो, यो तो मन्द मन्द मुस्काये, आओ मिलकर नज़र उतारे, कहि दुष्टो की नजर ना लग जाये।। काँन्हा…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

1 thought on “ॐ जय शिव जय महाकाल आरती लिरिक्स”

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे