नौरता की रात मैया गरबे रमवा आणो है भजन लिरिक्स

नौरता की रात मैया,
गरबे रमवा आणो है,
थाने वादों निभाणो है,
नौरता की रात।।

तर्ज – कीर्तन की है रात।



साथी सहेलियां,

मईया जोवे थारी बाट,
मईया जी थाने आवणो,
माथा पे हो टीका,
काना में हो झुमका,
सज ने थाणे आवणो,
नौरता की रात मईया,
गरबे रमवा आणो है,
थाणे वादे निभाणो है,
नौरता की रात।।



हाथा में हो चुडलो,

पावा में हो पायल,
हो छम छम करती आवणो,
सर पे हो चुनरिया,
लाले हो रंग री,
घुंगटा में थाणे आवणो,
नौरता की रात मईया,
गरबे रमवा आणो है,
थाणे वादों निभाणो है,
नौरता की रात।।



नौरता की रात मैया,

गरबे रमवा आणो है,
थाने वादों निभाणो है,
नौरता की रात।।

Singer – Lakhan Nagar
9575532545